समाचार प्लस
Breaking फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार

Liquor Ban and Bihar: ‘पर्यटन के विकास में शराबबंदी सबसे बड़ी बाधा’… तो क्या ब‍िहार में हट जाएगी शराबबंदी?

image source : social media

Liquor Ban and Bihar: बिहार में शराबबंदी (Prohibition in Bihar) के बाद राज्य में पर्यटन उद्योग को जबर्दस्त धक्का लग रहा है। बिहार सरकार के दावे से इतर ये बात आईआरसीटीसी ग्रुप (IRCTC Group) के इस्‍टर्न जोन के मैनेजर जफर आजम (zafar azam) ने कही है। उन्होंने कहा है कि बिहार के पर्यटन के विकास में सबसे बड़ी बाधा शराबबंदी है। शराबबंदी के कारण पर्यटक बिहार आना नहीं चाहते हैं। जिसकी वजह से लाखों करोड़ों रुपए की विदेश मुद्रा का नुकसान हो रहा है। उन्होंने कहा कि बिहार पूरे देश में एक मात्र ऐसा राज्‍य है जो बौद्ध, सिख, जैन यहां तक कि अंग्रेजी हूकूमत के लिहाज से भी महत्‍वपूर्ण है,  बावजूद बिहार में पर्यटक नहीं आना चाहते हैं। पटना में पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्‍होंने कहा कि बिहार में टूरिस्‍ट कैसे आएंगे? इसके लिए सरकार को ब्‍लूप्रिंट बनाना होगा। उस पर काम करना होगा, ताकि पर्यटकों को बिहार में लाया जा सके।

‘विदेशी पर्यटक बिहार आने से कतराते हैं’

आजम ने कहा कि बिहार में शराब बंदी के कारण टूरिज्म नहीं बढ़ पा रहा है। विदेशी पर्यटक बिहार नहीं आ रहे हैं। इसके लिए आईआरसीटीसी की तरफ से यह मांग की जा रही है कि विदेशी पर्यटकों के लिए शराब पीने की सहूलियत दी जाए। जिससे भारत का भी टूरिज्म बढ़े। उन्‍होंने कहा कि बिहार सरकार भले लाख दावा कर ले की शराब बंदी से टूरिज्म पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है। मगर असलियत ये है कि इसका असर बिहार के पर्यटन पर पड़ रहा है। आईआरसीटीसी के आजम का कहना है कि बिहार में टूरिज्म बढ़ाना है तो बिहार सरकार को शराबबंदी में ढील देनी होगी और विदेशी पर्यटक को शराब पिलाने की व्यवस्था करनी होगी।

मुख्यमंत्री से मिल करेंगे आग्रह 

आईआरसीटीसी ग्रुप के ईस्ट जोन के जनरल मैनेजर जफर आजम ने कहा है कि हम लोग मुख्यमंत्री से मिलेंगे,  उनसे बातें करेंगे और आग्रह करेंगे कि जो आवश्यक हो और जो टूरिज्म के विकास के लिए आवश्यक है, उसे जरूर करें ।

पर्यटन के क्षेत्र में हो रही है वृद्धि – सर्वे

वहीं राज्य सरकार ने हाल में एक सर्वे करवाया है। जिसमें दावा किया जा रहा है कि शराबबंदी होने से बिहार प्रगति कर रहा है और पर्यटन के क्षेत्र में भी लगातार वृद्धि हो रही है। लेकिन आईआरसीटीसी इस दावे को नकार रही है।

ये भी पढ़ें : बिहार में 2 सीटों पर उपचुनाव की घोषणा, मोकामा और गोपालगंज में 3 नवंबर को मतदान, 6 को परिणाम

 

Related posts

CM Biplab Resigns: एक और चुनावी राज्य में भाजपा के मुख्यमंत्री का इस्तीफा, जानें 10 कारण बिप्लब ने क्यों छोड़ी कुर्सी

Sumeet Roy

Jharkhand में जदयू-राजद का है बुरा हाल, कार्यकर्ताओं में अपने नेताओं के खिलाफ उबाल

Pramod Kumar

बिहार: कार्यपालक पदाधिकारी के आवास पर निगरानी का छापा, जनता दरबार में फरियादी ने खोली थी अधिकारी की पोल

Manoj Singh