समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर लातेहार

Latehar News: पाकिस्तान-नीदरलैंड के मैच ने बदल दी लातेहार के मंटू की किस्मत, रातो-रात बन गया करोड़पति

image source : social media

Latehar News: किसकी किस्मत खुलेगी, कौन बनेगा कारोड़पति की उक्ति लातेहार के मंटू के साथ चरितार्थ हो गई है. ड्रीम इलेवन (dream eleven)के जरिए उसने एक करोड़ की राशि जीती है. झारखंड के लातेहार जिले के हेरहंज प्रखंड मुख्यालय स्थित पुरनी हेरहंज निवासी किशोरी साव के पुत्र  मंटू (Mantu) प्रसाद को इस जीत की बधाइयाँ मिल रहीं हैं. ड्रीम इलेवन (Dream-11) में एक करोड़ रुपये जीतने पर मंटू को सहसा यह विश्वास नहीं हो रहा है कि उसकी किस्मत इस तरह बदल जाएगी, इसका उसे अंदाजा भी नहीं था. मंटू के पिता किशोरी साव ने बताया कि उन्हें इस खेल के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. उनका बेटा बीए तक पढ़ा है. उसने ही यह राशि जीती है.

छठी मइया ने हमारे परिवार को दी है खुशी: किशोरी साव

मंटू के पिता किशोरी साव बताते हैं कि घर की स्थिति बहुत अच्छी नहीं थी. फिर भी बच्चों को किसी तरह से पढ़ाया. मंटू प्रसाद ने बीए तक पढ़ाई की है. छठ में वह घर आया था. रविवार को शाम में गांव के कुछ लोगों ने बताया कि मंटू ने ड्रीम-11 में एक करोड़ रुपये जीते हैं. मुझे तो विश्वास ही नहीं हुआ. खुद बेटे से पूछा, तो उसने भी बताया कि उसने इतनी बड़ी राशि जीत ली है. छठी मइया ने हमारे परिवार को खुशी दी है. हम सबकी सुन ली.

‘रिजल्ट आते ही 38 लाख 51 हजार रुपये खाते में आ गए’

मंटू के पिता ने  बताया कि खेल का रिजल्ट आते ही 38 लाख 51 हजार रुपये उनके खाते में आ गए. उन्होंने कहा कि 57 लाख रुपये जीतने पर 33 प्रतिशत राशि टैक्स के रूप में काट कर भुगतान किया गया है. उन्होंने बताया कि आइपीएल मैच में खेलने वाली टीमों की संभावना के आधार पर अपनी टीम का चयन करना रहता है और जिसकी संभावित टीम जीतती है, उसे पुरस्कार मिलता है.

एक साल से ड्रीम-11 में किस्मत आजमा रहे थे

मंटू करीब एक साल से ड्रीम-11 में किस्मत आजमा रहे थे. कभी पूंजी मिल जाती थी, तो कभी कुछ भी नहीं मिलता था. 25-30 हजार रुपये का नुकसान हो गया था.रविवार (30 अक्तूबर 2022) को पाकिस्तान बनाम नीदरलैंड के मैच में उसने टीम बनायी थी. इसमें वह एक करोड़ रुपये जीत गया. मैसेज मिला, तो मैंने इसे रिडीम किया. पैसे को मेरे अकाउंट में ट्रांसफर करने की प्रक्रिया जारी है.

ये भी पढ़ें : छठ के बाद फिर से ‘आपकी सरकार आपके द्वारा’, मुख्यमंत्री हेमंत कल जायेंगे साहिबगंज

Related posts

India Independence day 2022: इस साल कौन सा स्वतंत्रता दिवस होगा ? 75वां या 76वां, ऐसे समझिये

Manoj Singh

झारखंड में जल्द होंगे पंचायत चुनाव, तैयारियां जोरों पर

Manoj Singh

Jharkhand: बंगाल की खाड़ी में बना सर्कुलेशन बिगाड़ेगा दुर्गापूजा का मजा, अष्टमी-नवमी ही नहीं, दशमी भी चपेट में

Pramod Kumar