समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर मनोरंजन

Lata Mangeshkar को खाने में मिलाकर दिया गया था जहर, 33 की उम्र में मारने की रची गई थी साजिश

अपनी मधुर आवाज से करोड़ों लोगों पर धाक जमाने वाली स्वर कोकिला लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) ने दुनिया को हमेशा-हमेशा के लिए अलविदा कह दिया. इन्होंने बॉलीवुड फिल्मों में कई ऐसे गाने गाए हैं जो लोगों की जुबां पर आज तक है. लेकिन बहुत कम लोगों को पता है कि लता दीदी को जान से मारने के लिए जहर तक दे दिया गया था.

33 की उम्र में मारने की रची गई थी साजिश

लता दीदी (Lata Mangeshkar) के इस जान से मारने वाले किस्से का जिक्र लता मंगेशकर के करीबी मित्र पद्मा सचदेव की किताब ‘ऐसा कहां से लाऊं’ में भी है. इसमें बताया गया है कि गायिका को मारने के लिए 33 साल की उम्र में साजिश रची गई थी.

खाने में मिलाकर दिया गया था जहर

ये घटना साल 1963 की है. लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) गंभीर रूप से बीमार पड़ गई थीं. डॉक्टरों को बुलाया गया और मेडिकल जांच में पता चला कि उन्हें Slow Poison (जहर) दिया गया था. इस घटना ने गायिका को शारीरिक रूप से कमजोर बना दिया, और वह लगभग तीन महीने तक बिस्तर पर पड़ी रही थीं.

खाना चेक करते ही दिया जाने लगा

इस घटना के तुरंत बाद उनका रसोइया बिना मजदूरी लिए घर से गायब हो गया था. इसके बाद दिवंगत बॉलीवुड गीतकार मजरूह सुल्तानपुरी नियमित रूप से दीदी के पास जाते थे, पहले उनके भोजन का स्वाद चखते थे और उसके बाद ही उन्हें खाने की अनुमति देते थे.

5,000 से ज्यादा गाए गाने

लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) ने एक हजार से ज्यादा हिंदी फिल्मों और 36 क्षेत्रीय फिल्मों में गाना गाया है. कुछ मिलाकर वो 5,000 से अधिक गानों में अपना आवाज दे चुकी हैं. इतने साल में लता दीदी ने मधुबाला से लेकर प्रियंका चोपड़ा तक के लिए अपनी आवाज दी है.

ये भी पढ़ें : Tribute To Lata Mangeshkar: सुर साम्राज्ञी Lata Mangeshkar के जीवन से जुड़े अनछुए पहलू , दिल छू लेगी संघर्ष की कहानी

Related posts

Demonetisation: नोटबंदी के 5 साल, जानें ‘Cash’ और ‘Digital transaction’ में कितना हुआ बदलाव?

Manoj Singh

‘Jugnu Song’ पर मेडिकल छात्राओं ने डांस कर बटोरी तारीफें, लोगों ने कह दी ये बात

Manoj Singh

Gumla News : झारखंड में नक्सलियों का आतंक फिर से उफान पर, गुमला में नक्सलियों ने मचाया तांडव, माइंस में लगे 27 वाहन आग के हवाले

Manoj Singh