समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Eclipse: शुरू हो गया साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, इन राशि वालों के लिए होगा खास फलदायी

Solar Eclipse

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

Solar Eclipse 2021 : साल का आखिरी सूर्य ग्रहण भारतीय समयानुसार 10 बजकर 59 मिनट पर आरम्भ हो चुका है। चूंकि यह सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखेगा इसलिए इसका सूतक काल भारत में मान्य नहीं होगा। 4 घंटे 8 मिनट तक चलने वाला सूर्य ग्रहण भले ही भारत में दिखाई नहीं देगा, लेकिन ज्योतिष के अनुसार ग्रहण का प्रभाव सभी लोगों पर पड़ेगा।

यहां देखा जा रहा है सूर्य ग्रहण

सूर्य ग्रहण अंटार्कटिका और दक्षिण महासागर में पूर्ण सूर्य ग्रहण दिखाई देगा जबकि दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में दिखने वाला सूर्य ग्रहण आंशिक होगा। भारतीय समय के अनुसार ग्रहण की शुरुआत सुबह 10 बजकर 59 मिनट से हो चुकी और इसकी समाप्ति दोपहर 3 बजकर 7 मिनट पर होगी। ग्रहण काल की कुल अवधि 4 घंटे 8 मिनट की होगी।

सूर्य ग्रहण का राशियों पर प्रभाव

सूर्य ग्रहण भले ही भारत में न दिखाई दे रहा हो, लेकिन ग्रहण राशियों पर अपना प्रभाव डालेगा। आइये जानते हैं, किन राशि वालों पर यह ग्रहण क्या प्रभाव डालेगा-

वृष राशि- सूर्यग्रहण शुभ रहेगा। करियर में आपको ऊंचा पद हासिल होगा।

मिथुन राशि- सूर्यग्रहण आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं होगा। यह आपके जीवन में सुख और समृद्धि लेकर आने वाला है।

कन्या राशि- आपके केफैसले सही साबित होंगे। आर्थिक संपन्नता मिलेगी। कार्यों में सफलता हासिल होगी। नौकरी में प्रमोशन के योग हैं।

धनु राशि– इस राशि के जातकों को तरक्की के साथ अपनों से मान-सम्मान और यश की प्राप्ति होगी।

मीन राशि–  यह सूर्य ग्रहण मीन राशि के लोगों के परिवार में कई खुशियां लेकर आ रहा है। आर्थिक उन्नति के प्रबल संकेत हैं।

सूर्य ग्रहण और शनि अमावस्या का दुर्लभ योग

शनिवार के दिन Solar Eclipse के साथ ‘शनिश्चरी अमावस्या’ का दुर्लभ संयोग बना है। आज की शनिश्चरी अमावस्या कई मायनों में खास है। एक तो यह अमावस्या शनिवार को पड़ी है। दूसरा यह कि इस खास अवसर पर शनिदेव के अनुराधा नक्षत्र की भी मौजूदगी है। धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक शुभ संयोगों से यु्क्त होने के कारण शनिश्चरी अमावस्या शनि देव की उपासना के लिए खास है। मान्यता है कि शनि उपासना से शनि की पीड़ा से मुक्ति मिलती है।

यह भी पढ़ें: कोरोना का नया वेरिएंट कितना घातक: 38 देशों में पहुंच गया ओमीक्रॉन, मौत एक भी नहीं

Related posts

Electricity Bill जमा करना हुआ और भी आसान, Meter Reader को कर सकेंगे Payment

Sumeet Roy

अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया ICU में भर्ती, लंदन से भारत लौटे

Manoj Singh

DEEPAWALI: ग्रीन पटाखे नहीं करेंगे आपकी दिवाली धुआं-धुआं, सुप्रीम कोर्ट भी चाहता है यही

Pramod Kumar