समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

जनरल बिपिन रावत को अंतिम प्रणाम! पत्नी समेत पंचतत्व में विलीन हुए देश के प्रथम CDS बिपिन रावत, बेटियों ने दी मुखाग्नि

Last Salute to Bipin Rawat

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

तमिलनाडु के कुन्नूर में बुधवार को हेलीकॉप्टर हादसे में शहीद हुए देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत पंचतत्व में विलीन हो गये। उनका अंतिम संस्कार शुक्रवार को दिल्ली कैंट के बरार स्क्वायर में पूरे सैन्य सम्मान के साथ किया गया। माता-पिता को बेटियों कृतिका और तारिणी ने मुखाग्नि दी। अंतिम संस्कार से पहले जनरल रावत को 17 तोपों की सलामी दी गयी।

बरार स्क्वायर के अंत्येष्टि स्थल पर 800 सैन्यकर्मियों को तैनात किया गया था। जनरल रावत को मुखाग्नि से पहले तीनों सेनाओं के जवानों ने अपने-अपने बिगुल बजा कर सलामी दी। फिर सैन्य बैंड के 33 कर्मचारियों ने शोक गीत बजाकर अपने सेनानायक को अंतिम विदाई दी। इसके बाद उन्हें 17 तोपों की सलामी दी गयी।

जनरल रावत के अंतिम संस्कार में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, अन्य देशों के अधिकारियों समेत कई हस्तियां श्मशान घाट पहुंचीं। इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बरार स्क्वायर श्मशान घाट पहुंचकर CDS जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत के पार्थिव शरीर को श्रद्धांजलि अर्पित की।

इससे पहले राजधानी दिल्ली के कामराज मार्ग स्थित घर पर जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत के पार्थिव शरीर अंतिम दर्शन के लिए रखे गये थे। उन्हें अंतिम विदाई के लिए पड़ोसी देशों के सैन्य प्रमुख और अधिकारी भी शामिल हुए। अंतिम दर्शन के बाद बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत का शव पूरे राजकीय सम्मान के साथ दिल्ली कैन्ट स्थित बरार स्कवायर श्मशान घाट पर ले जाया गया। अंतिम यात्रा में लेफ्टिनेंट जनरल स्तर के छह अधिकारी तिरंगा लेकर उनके शव के आगे चल रहे थे।

अंतिम यात्रा में गूंजे जयकारे

दिल्ली स्थित घर से जब जनरल रावत और उनकी पत्नी मधुलिका की अंतिम यात्रा निकाली, उनके अंतिम दर्शन को लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। लोग हाथों में तिरंगा लिये उनके पार्थिव शरीर के साथ चल रहे थे। इस दौरान हजारों लोगों ने ‘भारत माता की जय’, ‘जनरल रावत अमर रहें’, ‘जब तक सूरज चांद रहेगा, बिपिन जी का नाम रहेगा’ जैसे नारे लगाए। लोगों ने उनके शवों को सलामी भी दी।

यह भी पढ़ें: Tribute to CDS: पीपल के पत्ते पर बिपिन रावत का अक्स उकेर कर दी अनोखी श्रद्धांजलि

Related posts

लातेहार: चाउमीन विक्रेता गोपाल के क्या खूब चमके सितारे ! Dream11 में जीत ली इतनी बड़ी राशि

Manoj Singh

कृषक-पुत्र कड़िया मुंडा कृषि कानूनों के वापस होने से आहत, देखिये वीडियो में कैसे व्यक्त की अपनी पीड़ा

Pramod Kumar

CBI Pending Cases: जांच के 1,117 केस सीबीआई पास लंबित, 18 केस सात साल से अधिक पुराने

Pramod Kumar