समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार राजनीति

बिहार के नए कानून मंत्री Kartikeya Singh को लेकर विपक्ष हुआ हमलावर, जिस दिन करना था कोर्ट में सरेंडर उसी दिन ली शपथ

image source : social media

बिहार (Bihar) में गठबंधन की सरकार बनने के बाद मंगलवार को 31 मंत्रियों को राज्यपाल फागू चौहान के द्वारा शपथ दिलाई गई। इस शपथ ग्रहण के बाद आरजेडी एमएलसी कार्तिकेय सिंह (RJD MLC Kartikeya Singh) को कानून मंत्री बनाया गया। जो कानून मंत्री बने हैं।लेकिन मंत्रालय के बंटते ही कानून मंत्री बनाए गए राजद नेता और एमएलसी कार्तिकेय सिंह (RJD MLC Kartikey Singh) को लेकर हंगामा खड़ा हो गया। दरअसल, कार्तिकेय सिंह के खिलाफ कोर्ट से अपहरण के मामले में वारंट जारी किया जा चुका है। 16 अगस्त को उन्हें सरेंडर करना था, लेकिन वे कोर्ट में पेश नहीं हुए जिसको लेकर अब विपक्ष हमलावर हो गया है।

image source : social media
image source : social media

अपहरण मामले में आरोपी हैं कार्तिकेय 

गौरतलब है कि वर्ष 2014 में राजीव रंजन का अपहरण हुआ था। इसके बाद कोर्ट ने इस मामले में संज्ञान लिया था। इस मामले में एक आरोपी बिहार के कानून मंत्री कार्तिकेय सिंह भी हैं जिनके खिलाफ अदालत ने वारंट जारी किया है। उन्हें 16 अगस्त को पेश होना था, लेकिन वे उस दौरान शपथ ले रहे थे। कार्तिकेय सिंह ने अभी तक ना तो कोर्ट के सामने सरेंडर किया है ना ही जमानत के लिए अर्जी दी है।

भाजपा ने नीतीश कुमार पर बोला जोरदार हमला

कार्तिकेय सिंह के कानून मंत्री के रूप में शपथ लेने से बिहार की सियासत गरमा गई है। मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा ने नीतीश कुमार पर जोरदार हमला बोला है। भाजपा ने कहा कि जंगलराज वापस लौट आया है। भाजपा ने कहा कि नीतीश कुमार सब जानते थे, लेकिन फिर भी कार्तिकेय को कानून मंत्री बनाया।

image source : social media
image source : social media

अनंत सिंह के ख़ास हैं

कार्तिकेय सिंह को बाहुबली नेता अनंत सिंह का नजदीकी माना जाता है। जानकारी के मुताबिक अनंत सिंह के जेल में रहने के दौरान कार्तिकेय मास्टर ही मोकामा से लेकर पटना तक उनका कारोबार देख रहे थे। कार्तिकेय को अनंत सिंह के समर्थक ‘कार्तिक मास्टर’ के नाम से जानते हैं। वर्ष 2005 के बिहार विधानसभा चुनाव के बाद कार्तिक मास्टर और अनंत सिंह की दोस्ती परवान चढ़ी थी। आगे अनंत सिंह के चुनावी रणनीतिकार के रूप में कार्तिकेय ने खुद को साबित किया। जानकारी है कि अनंत सिंह के लिए सभी राजनीतिक दांव-पेंच पर्दे के पीछे से कार्तिकेय की मदद से ही अनंत सिंह संभालते हैं। इसलिए अनंत सिंह की पहली पसंद वे हैं। सबसे बड़े विश्वासी हैं। इसी बीच बिहार के नए कानून मंत्री कार्तिकेय सिंह के खिलाफ अरेस्ट वारंट भी जारी हो गया है।

ये भी पढ़ें : नीतीश-तेजस्वी कैबिनेट की पहली बैठक में 10 लाख नौकरियों का मुद्दा गायब, क्या पूरा हो पाएगा वादा?

 

Related posts

Covid-19: 10 महीने बाद 10,000 से नीचे आया कोरोना संक्रमण, 24 घंटे में नये मामले 8,488 दर्ज

Pramod Kumar

Dipika Pandey Jharkhand: बीच सड़क बैठ कीचड़ स्नान करने लगीं विधायक Dipika Pandey, जानें आखिर क्यों उन्हें ऐसा करना पड़ा?

Manoj Singh

‘बिहारियों को सौंप दें कश्मीर, 15 दिन में सुधार देंगे’, PM मोदी से जीतन राम मांझी की मांग

Manoj Singh