समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

जरा याद करो कुर्बानी: शहीद 40 वीर सपूतों को नमन! हम शहीदों को नहीं भूले, हमारा बदला ‘नापाकिस्तान’ कभी नहीं भूलेगा

3rd anniversary of pulwama attack

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

आज वैलेंटाइन डे है। प्यार का दिन! लेकिन आज का हमारा सारा प्यार 14 फरवरी 2019 पुलवामा में शहीद हुए 40 वीर सपूतों के नाम। आज पुलवामा हमले की तीसरी बरसी पर सारा देश अपने उन वीर सपूतों को नमन कर रहा है जो पाकिस्तान की कायराना हरकत की भेंट चढ़ गये थे। वह वैलेंटाइन डे का दिन ही तो था। उस दिन की घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर 78 बसों में ढाई हजार जवानों का काफिला गुजर रहा था। काफिला पुलवामा पहुंचा ही था कि सड़क की दूसरी तरफ से आयी एक गाड़ी ने जवानों की एक बस को टक्कर मार दी। यह आत्मघाती हमला था। एक जोरदार धमाके के साथ सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये। कई जवान गंभीर रूप से घायल हुए थे। आतंकियों की हिमाकत देखिये, उन्होंने इतने से ही बस नहीं किया। उन्होंने गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। तब तक हमारे भारतीय जवान संभल चुके थे, उन्होंने काउंटर फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद आतंकी दुम दबा कर भाग निकले। कहने की जरूरत नहीं, पुलवामा पर वह कायरता पूर्ण आतंकी हमला नापाकिस्तान (पाकिस्तान) की देन था।

इस आतंकी हमले की साजिश आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने आईएसआई समेत पाकिस्तान की सरकारी एजेंसियों के साथ मिलकर रची थी। एनआईए की जांच रिपोर्ट में इसका सच भी सामने आ चुके है। हमले की जांच के बाद NIA ने अगस्त 2020 में साढ़े तेरह हजार पन्नों की चार्जशीट दाखिल की थी। जिसमें कुल 19 आरोपियों के नाम शामिल थे।

भारत ने बदला भी जोरदार लिया

पाकिस्तान ने जो किया सिर्फ वही मुमकिन नहीं है। मोदी ने भी मुमकिन करके दिखा दिया। भारत में सुबह जब लोग सोकर उठे ही थे तो पता चला कि देश ने पुलवामा हमले का जोरदार तरीके से बदला ले लिया है, वह भी पुलवामा हमले के महज 12 दिन के भीतर। पाकिस्तान में भी लोगों को सुबह यह खबर लग पायी, लेकिन उसके लिए यह हाथ मलने वाली खबर थी। भारतीय जवानों ने 40 जवानों की शहादत का बदला पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर एयरस्ट्राइक करके लिया। 26 फरवरी, 2019 को भारत ने पाकिस्तान के आतंकी ठिकानों पर बम बरसा दिये। जिसके आतंकी संगठन की कमर तोड़ कर रख दी। इस एयरस्ट्राक में बालाकोट में मौजूद जैश-ए-मोहम्मद के ठिकाने तहस-नहस हो गए। जिसमें 300 से ज्यादा आतंकी मारे गए थे।

इस एयर स्ट्राइक से पाकिस्तान को तो बड़ा नुकसान हुआ। हमारे देश के कई ‘अराष्ट्रभक्तों’ को भी ‘बड़ा नुकसान’ हुआ। बालाकोट एयरस्ट्राइक ने हर भारतीय का सीना ’56 इंच’ का कर दिया, लेकिन कइयों को यह हमला पचा ही नहीं। उन्हें हमारे जाबांजों के इस महान कारनामे पर अब भी संदेह है।

यह भी पढ़ें: सरकार ने Ban किया Free Fire! Google Play Store और App Store से गायब हुए कई ऐप्स

Related posts

Vasant Panchami: जब चैत्र से होती है वसंत ऋतु की शुरुआत, फिर क्यों पहले मनायी जाती है ‘वसंत पंचमी’

Pramod Kumar

‘जेवर’ हवाई अड्डे से भाजपा भरेगी 2022 चुनाव की उड़ान, कल शिलान्यास के साथ पीएम मोदी बनायेंगे चुनावी हवा

Pramod Kumar

Patna: प्रेम-प्रसंग में युवक की अपहरण के बाद हत्या, शव को बारे में डालकर फेंका

Pramod Kumar