समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand: योगेन्द्र साव को हाईकोर्ट से मिल गयी बेल, खनन मामले में हिंसा फैलाने पर हुई है जेल

Jharkhand: Yogendra Saw got bail from High Court, jailed for spreading violence

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

बड़कागांव के चीरूडीह में एनटीपीसी द्वारा अधिग्रहीत क्षेत्र में खनन का विरोध करने के दौरान हुई हिंसा मामले में पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता योगेन्द्र साव को हाई कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। निचली अदालत द्वारा सुनाई गयी दस साल की सजा काट रहे योगेन्द्र साव को हाई कोर्ट ने जमानत दे दी है। निचली अदालत से सजा सुनाये जाने के बाद योगेन्द्र साव करीब 4 वर्षों से जेल में है, लेकिन अब उनके जेल से बाहर आने का रास्ता साफ हो गया है।

निचली अदालत द्वारा रिपोर्ट दाखिल होने के बाद हाई कोर्ट ने योगेंद्र साव की जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए उनके पक्ष में फैसला सुनाया। योगेंद्र साव की जमानत याचिका पर न्यायाधीश जस्टिस रंगोंन मुखोपाध्याय और जस्टिस अम्बुज नाथ की कोर्ट में सुनवाई हुई। योगेंद्र साव की तरफ से झारखंड हाईकोर्ट के अधिवक्ता विशाल तिवारी और अधिवक्ता शुभाशीष रसिक सोरेन ने पक्ष रखा।

बता दें, योगेन्द्र साव ने बड़कागांव के चीरूडीह में एनटीपीसी द्वारा अधिग्रहीत क्षेत्र में खनन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था। इसी दौरान वहां हुई हिंसा के मामले में निचली अदालत ने उन्हें दस साल की सजा सुनाई थी।

यह भी पढ़ें: National Herald: अबकी बार सोनिया पहुंची हैं ईडी दरबार, भड़की कांग्रेस पर भड़का सोशल मीडिया

Related posts

कोमोलिका बारी को विश्व चैंपियनशिप का खिताब, दीपिका के बाद अंडर 18 व 21 का स्वर्ण जीतने वाली दूसरी तीरंदाज बनीं

Manoj Singh

छठ गीत सिर्फ गीत नहीं, इनमे छुपे होते हैं कई सन्देश

Annu Mahli

Jharkhand: मॉब लींचिंग के शिकार संजू प्रधान के परिजनों से मिलकर बोले रघुवर दास- षड्यंत्र रच कर हुई हत्या

Pramod Kumar