समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर रामगढ़

Jharkhand: ‘ग्रामीणों की जमीन हड़पने के जुर्म’ में पूर्व मंत्री योगेंद्र साव ‘बंदी’, चार घंटे बाद पुलिस ने ग्रामीणों से छुड़ाया

Yogendra sao hostage

Yogendra sao hostage: जमीन विवाद में जेल की यात्रा कर चुके झारखंड के पूर्व कृषि मंत्री योगेन्द्र साव जमीन विवाद में फिर फंसे हैं। योगेन्द्र साव रामगढ़ जिले के पतरातू प्रखंड क्षेत्र के हरिहरपुर पंचायत के मेलानी गांव अपने कार्यकर्ताओं से मिलने आये थे, लेकिन स्थानीय ग्रामीणों ने उनका रास्ता रोककर उन्हें घंटों बंधक बनाये रखा। बता दें, बड़कागांव की विधायक अंबा प्रसाद के पिता योगेंद्र साव साढ़े चार साल बाद जेल से जमानत पर बाहर निकले हैं। बाहर निकलते ही जमीन अधिग्रहण मामले में गोलीकांड केस में 10 साल के सजा याफ्ता योगेंद्र साव ‘जमीन हड़पने’ के आरोप में ग्रामीणओं के बंधक बन गये।

योगेन्द्र साव जैसे ही रामगढ़ जिले के पतरातू प्रखंड क्षेत्र के हरिहरपुर पंचायत के मेलानी गांव पहुंचे ग्रामीणों ने सड़क के बीच में बांस-बल्ली लगाकर सड़क को पूरी तरह से जाम कर दिया। उसके बाद उनकी घेराबंदी कर उन्हें बंधक बना कर खूब नारेबाजी की। ग्रामीणों का कहना था कि मेलानी गांव के बगल में पतरातू डैम के किनारे की उनकी 2 एकड़ 42 डीसमिल जमीन पर पूर्व कृषि मंत्री योगेंद्र साव और विधायक अंबा प्रसाद के इशारे पर जबरन कब्जा कर लिया गया है और उस पर बाउंड्री खड़ी की जा रही है। इसीलिए वे पूर्व मंत्री का विरोध कर रहे हैं। जबकि योगेंद्र साव का कहना है कि जिस जमीन को लेकर ग्रामीण उनका विरोध कर रहे हैं, उससे उनका कोई लेना देना नहीं है। गांव में तो वह अपने कार्यकर्ताओं नरेश महतो, रमेश बेदिया व माइकल तिग्गा से मिलने आये थे।

बाद में सूचना मिलने पर डीएसपी बिरेंद्र कुमार चौधरी, रोहित कुमार, बासल थाना प्रभारी घटनास्थल पर पहुंचे और पूर्व कृषि मंत्री को ग्रामीणों से मुक्त कराया। ग्रामीणों को आश्वासन दिया गया कि विवादित जमीन पर कोई निर्माण कार्य नहीं किया जायेगा।

यह भी पढ़ें: Russia-Ukraine का पीएम मोदी निकालेंगे हल! बाइडेन-पुतिन के बीच बनेंगे मध्यस्थ!

Yogendra sao hostage

Related posts

Jharkhand: राज्य सरकार के ‘कोर्ट फी अमेंडमेंट एक्ट’ को चुनौती देने वाली जनहित याचिका पर सुनवाई 20 अक्टूबर को

Pramod Kumar

स्थापना दिवस पर RSS प्रमुख मोहन भागवत की बढ़ती जनसंख्या पर जताई चिंता, संसाधन कम, आबादी का बोझ बड़ा

Pramod Kumar

इमरान के ‘दोस्त’ के सलाहकार मलविंदर सिंह माली ने कश्मीर को बताया अलग देश

Pramod Kumar