समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand: ताजिकिस्तान में फंसे 44 मजदूर लाये गये दिल्ली, सोशल मीडिया पर लगायी थी गुहार

Jharkhand: Workers trapped in Tajikistan came to Delhi, pleaded on social media repatriation

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

ताजिकिस्तान में फंसे झारखंड के 44 मजदूरों को सकुशल दिल्ली ले आया गया है। ये मजदूर गिरिडीह, हजारीबाग और बोकारो जिलों के हैं जो लम्बे समय से ताजिकिस्तान में फंसे हुए थे। सोशल मीडिया पर इनकी गुहार वायरल होने के बाद सरकार सचेत हुई और इनकी स्वदेश वापसी सम्भव हो सकी। बता दें, गिरिडीह जिले के बगोदर, सरिया, डुमरी, हजारीबाग जिले के बिष्णुगढ़ और बोकारो जिला के विभिन्न गांवों के मजदूरों का सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें उन्होंने तजाकिस्तान में अपने फंसे होने की बात कही थी। वीडियो में उन्होंने यह भी बताया था कि कई महीनों से उन्हें मजदूरी नहीं  मिली जिससे उनके समक्ष खाने-पीने का संकट उत्पन्न हो गया है।

वीडियो वायरल होने के बाद क्षेत्र के एमपी और एमएलए ने मजदूरों की वतन वापसी के लिए पहल शुरू की। कोडरमा की सांसद केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री अन्नपूर्णा देवी ने विदेश मंत्री से मुलाकात करके मजदूरों को वतन वापस लाने की मांग उठाई थी। बगोदर के विधायक विनोद कुमार सिंह ने भी झारखंड विधानसभा में मजदूरों का मामला उठाया था। मजदूरों ने उन सभी लोगों और मीडिया को धन्यवाद कहा जिनके प्रयास से उनकी वतन वापसी हो सकी है।

यह भी पढ़ें: Jharkhand: मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने सीटीसी मुसाबनी में प्रशिक्षु आरक्षियों के परेड का किया निरीक्षण, ली सलामी

Related posts

राज्य में उत्खनन कार्य में 75% मानव बल झारखंड के होने चाहिए – CM Hemant Soren

Sumeet Roy

मुख्यमंत्री Hemant Soren ने खरसावां गोलीकांड के वीर शहीदों को दी श्रद्धांजलि, कहा – पर्यटक स्थल के रूप में विकसित होगा ‘शहीद पार्क’

Manoj Singh

Jharkhand: ऊर्जा विभाग के आउटसोर्स कर्मी भूखों मर रहे, सरकार रेवड़ियां बांट रही- अजय राय

Pramod Kumar