समाचार प्लस
Breaking खेल झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand खेल निदेशालय का कमाल, इधर का खिलाड़ी उधर लेगा ट्रेनिंग! ओवर एज, अंडर एज भी सूची में

Jharkhand Sports Directorate is amazing, the player from here will take training there!

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

आवासीय प्रशिक्षण केन्द्रों में खिलाड़ियों के प्रशिक्षण के लिए झारखंड खेल निदेशालय ने निर्देश जारी कर दिया है। इसके साथ ही निदेशालय ने चयनित एथलेटिक्स खिलाड़ियों की सूची भी जारी कर दी है। लेकिन लगता है खेल निदेशालय ने बड़े बेमन से यह सूची जारी की है। सूची को देखने से लगता है कि खिलाड़ियों की असुविधा का इसमें ध्यान नहीं रखा गया है। सूची में इस जिले का खिलाड़ी उस जिले की सूची में तो उस जिले का खिलाड़ी इस जिले की सूची में डाल दिया गया है। खेल निदेशालय के इस गड़बड़ झाले से खिलाड़ियों को होने वाली परेशानियों का सहज अंदाजा लगाया जा सकता है।

बता दें, 21 से 24 फरवरी तक आयोजित जिला स्तरीय ट्रायल प्रतियोगिता और फिर 1 से 4 मार्च तक हुए राज्य स्तरीय ट्रॉयल प्रतियोगिता के आधार पर खिलाड़ियों का चयन किया गया है। ट्रायल सम्पन्न होने के 53 दिनों के बाद काफी मंथर गति से खेल निदेशालय ने एथलीटों की सूची जारी की है। लेकिन चाईबासा के एथलीट को साहेबगंज, दुमका के एथलीट को गुमलाऔर गुमला के एथलीट को बोकारो आवासीय प्रशिक्षण केंद्र में प्रशिक्षण के लिए भेजा जा रहा है। सेंटर वार चयनित खिलाड़ियों की यह सूची मंगलवार को जारी की गई है।

आम तौर पर आवासीय सेंटरों में आस-पास के जिलों के खिलाड़ियों का प्रशिक्षण के लिए रखा जाता है, लेकिन गुमला के खिलाड़ी को गुमला की बजाय चंदनकियारी, बोकारो की सूची में डाल दिया गया है। यही हाल बोकारो के खिलाड़ियों का है। एथलेटिक्स ही नहीं, फुटबॉल में भी चयन का यही पैमाना आजमाया गया है। सूची देखने के बाद स्पष्ट है कि कई आवासीय प्रशिक्षण केंद्रों के लिए दूसरी सूची जारी करनी ही पड़ेगी।

इसके अलावा 14 ऐसे खिलाड़ियों का चयन मेरिट लिस्ट में हो गया है जो सरकारी मानकों के अनुसार या तो अंडर एज हैं या ओवर एज हैं। इनमें से 10 अंडर एज और 4 ओवर एज खिलाड़ी हैं। जबकि खेल निदेशालय द्वारा फरवरी में जिला खेल पदाधिकारियों को दिये गये निर्देश के अनुसार, 1 फरवरी 2010 से 31 जनवरी 2012 के बीच जन्मे बच्चों का ही ट्रॉयल लेना था।

यह भी पढ़ें: Jharkhand में कुछ बड़ा होने वाला है? राज्यपाल दिल्ली गये, राष्ट्रपति-गृहमंत्री से मिलेंगे, दीपक-सुदेश के दिल्ली में रहने के मायने!

Related posts

‘फूलो झानो’ के रूप में महिलाओं को सीएम हेमंत ने दिया सम्मानजनक आजीविका का ‘आशीर्वाद’

Pramod Kumar

Indian Railways Big Announcement : अब किराए पर लेकर कोई भी चलवा सकता है ट्रेन

Manoj Singh

चिराग पासवान की पार्टी का नाम होगा ‘लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास)’, अब ‘हेलिकॉप्टर’ चुनाव चिन्ह

Manoj Singh