समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

Jharkhand: क्षेत्रवार वनोपज एवं कृषि उपज का डाटाबेस तैयार करें – मुख्यमंत्री हेमंत

Jharkhand: Prepare area wise database of forest produce and agricultural produce – Chief Minister Hemant

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि राज्य के कौन-कौन से क्षेत्र में कौन से वनोपज और कृषि उपज पाए जाते हैं इसका डाटाबेस तैयार करें। डेटाबेस के अनुसार इन उपजों का वैल्यू एडिशन और मार्केटिंग के लिए  मैकेनिज्म तैयार करें। वनोपज तथा कृषि उपज से संबंधित संस्थानों से समन्वय स्थापित कर कार्य योजना बनाएं। उक्त निर्देश मुख्यमंत्री ने आज झारखंड विधानसभा स्थित मुख्यमंत्री कक्ष में आयोजित सिद्धो-कान्हो कृषि एवं वनोपज राज्य सहकारी संघ लि० रांची के निदेशक पर्षद की प्रथम बैठक में पदाधिकारियों को दिए। बैठक में मुख्यमंत्री ने सिद्धो-कान्हो कृषि एवं वनोपज राज्य सहकारी संघ लि० के पदाधिकारियों को वनोपज तथा कृषि उपज के क्षमता विकास के लिए एक कौशल विकास केंद्र स्थापित करने का निर्देश भी दिया है।

मानव बल नियुक्त करें

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने पदाधिकारियों को निर्देशित किया कि सिद्धो-कान्हो कृषि एवं वनोपज राज्य सहकारी संघ लि. के विभिन्न कार्यों तथा गतिविधियों के ससमय निष्पादन हेतु जल्द मानव बल नियुक्त करें। सिद्धो-कान्हो कृषि एवं वनोपज राज्य सहकारी संघ लि. राज्य के वन क्षेत्रों में उत्पादित वनोपज का संग्रहण, मार्केटिंग तथा प्रोसेसिंग बेहतर तरीके हो सके यह सुनिश्चित कराएं। मुख्यमंत्री ने स्टेट प्रोक्यूरमेंट एवं मार्केटिंग पॉलिसी निर्धारण हेतु कमेटी एवं स्टेट क्रेडिट लिंकेज पॉलिसी निर्धारण हेतु कमेटी का गठन करने का निर्देश पदाधिकारियों को दिया। बैठक में सिद्धो-कान्हो कृषि एवं वनोपज राज्य सहकारी संघ लि. की निबंधित उपविधि को अंगीकार किया गया। बैठक में कुछ अन्य महत्वपूर्ण प्रस्तावों पर भी विचार-विमर्श किया गया।

बैठक में कृषि मंत्री बादल, अपर मुख्य सचिव एल.ख्यानग्ते, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार चौबे, सचिव के.के. सोन, सचिव अबू बकर सिद्दीकी, सिद्धो-कान्हो कृषि एवं वनोपज राज्य सहकारी संघ लि. के सीईओ संजीव कुमार, सचिव जयप्रकाश शर्मा तथा झास्कोलैम्प, झामकोफेड एवं वेजफेड के प्रबंध निदेशक एवं अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें: तिरंगा भी अब भाजपा का हो गया है? तिरंगा रैली में शामिल नहीं होकर विपक्ष ने दिखायी गयी बेशर्मी तो यही कहती है!

Related posts

Jharkhand में मैट्रिक और इंटर की परीक्षाएं होली के बाद, 10 फरवरी तक तिथियों की घोषणा

Pramod Kumar

Agnipath: हिंसा के लिए युवाओं की अगर सेना में जगह नहीं, तो ‘आग’ लगाने वाले नेताओं को भी दिखानी चाहिए उनकी जगह

Pramod Kumar

Waseem Rizvi conversion: वसीम रिजवी बने जीतेंद्र नारायण सिंह त्यागी, कहा -सिर्फ हिंदुत्व के लिए काम करुंगा

Manoj Singh