समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राजनीति

Jharkhand Politics: झारखंड मंत्रिमंडल में फेरबदल की अटकलें फिर तेज! बदले गए मंत्री तो कांग्रेस में पड़ सकती है फूट?

image source : social media

Jharkhand Politics: सीएम हेमंत सोरेन(CM Hemant Soren) के दिल्ली जाने के साथ ही झारखंड मंत्रिमंडल में फेरबदल को लेकर चर्चा फिर तेज हो गई है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन इस समय नई दिल्ली में मौजूद हैं, उनकी मुलाकात कांग्रेस आलाकमान से हो सकती है। ऐसे में कांग्रेस की तरफ से सरकार में मंत्री पद में बदलाव (Reshuffle in jharkhand cabinet) को लेकर मंथन होने की संभावना है।

image source : social media
image source : social media

फेरबदल के मिल चुके है संकेत 

जानकारी के मुताबिक कैशकांड के बाद झारखण्ड की राजनीति (Jharkhand Politics) गरमाई हुई है।विशेष रूप से कांग्रेस में सब कुछ अच्छा नहीं चल रहा है। कैशकांड में पार्टी के तीन विधायक अभी जेल में हैं। पार्टी के प्रभारी ने कांग्रेस कोटे के मंत्रियों के फेरबदल के इशारे पहले ही कर दिये हैं। इससे पार्टी में मंत्री पद के बदलाव के बाद फूट पड़ने की आशंका प्रबल हो गई है।

पनपेगा असंतोष!

पार्टी कांग्रेस कोटे के चार मंत्रियों में से दो या तीन को बदलने के मूड में है । ऐसे में इनकी जगह दो या तीन विधायकों को मंत्री बनने का अवसर मिल सकेगा। इस सूरत में जो विधायक मंत्री नहीं बन सकेंगे या फिर जिन्हें मंत्री पद से हटना पड़ेगा, उनमें असंतोष पनपेगा। इस बीच शिल्पी नेहा तिर्की को भी कैबिनेट में शामिल किए जाने की चर्चा भी चल रही है।

image source : social media
image source : social media

 

इनकी कुर्सी पर मंडरा रहा खतरा 

गौरतलब है कि राष्ट्रपति चुनाव में जमकर crossvoting की गई थी। कांग्रेस के नौ से 10 विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की थी, इसकी भी पुष्टि हो चुकी है। वहीं, कैशकांड में भी कई अन्य विधायकों के भी शामिल होने की बात भी सामने आ चुकी है। जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की सरकार में इस समय कांग्रेस कोटा से जो मंत्री हैं, उनमें स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम, वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव और कृषि मंत्री बादल पत्रलेख शामिल हैं। अब चर्चा इन चार मंत्रियों में से एक को छोड़कर तीन मंत्रियों को मंत्री पद से हटा दिए जाने की चल रही है। इसके लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और झारखंड कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडेय से भी हरी झंडी मिलने की बात कही जा रही है। हालांकि मीडिया में कांग्रेस की ओर से अभी तक इस संबंध में औपचारिक बयान नहीं दिया गया है। लेकिन इस बात की पूरी संभावना है कि 15 अगस्त तक मंत्रिमंडल का गठन फिर से कर दिया जाए।

ये भी पढ़ें : AzadiSAT: ISRO के SSLV ‘आजादी सैटेलाइट’ का लॉन्च सफल, लेकिन सेटेलाइट से संपर्क टूटा

 

Related posts

Reliance Retail ने Just Dial में हिस्सा खरीदा, इतने में हुई डील

Manoj Singh

हेमंत सोरेन सरकार ने विधानसभा में हासिल किया विश्वास मत, भाजपा, केन्द्र और राज्यपाल पर जमकर बरसे सीएम

Pramod Kumar

Tarapur by-election 2021: यहां के वोटरों का मूड करता है स्विंग, समझें इस सीट का पूरा जातिगत समीकरण

Manoj Singh