समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

Jharkhand: ऊर्जा विभाग के आउटसोर्स कर्मी भूखों मर रहे, सरकार रेवड़ियां बांट रही- अजय राय

Jharkhand: The outsourced workers of the Energy Department are starving, the government is distributing the ravadis.

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

एक ओर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के माध्यम से  लोकलुभावन घोषणा  कर रहे  हैं वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री के खुद के  अधीन ऊर्जा विभाग के आउटसोर्स कर्मी वेतन के अभाव में दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। उक्त बातें झारखंड ऊर्जा विकास श्रमिक संघ के अध्यक्ष अजय राय ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहीं। उन्होंने कहा कि जब खुद मुख्यमंत्री के विभाग का यह हाल है तो दूसरे विभागों का हाल क्या होगा इसका सहज अनुमान लगाया जा सकता है। अजय राय ने  बताया कि झारखंड ऊर्जा संचार निगम में लगभग 4000 कर्मी सनसिटी एजेंसी के माध्यम से कार्यरत हैं जिन्हें पिछले 3 माह से वेतन नहीं मिल रहा है। श्रमिक संघ द्वारा लगातार वरीय पदाधिकारियों को इस सम्बंध में पत्र देने के बावजूद इस पर कहीं कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है जो दुर्भाग्यपूर्ण है।

अजय राय ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पहले अपने विभाग के कर्मियों का सुध लें जो वेतन के अभाव में ना अपने बच्चों को पढ़ा पा रहे हैं और ना ही घर चला पा रहे हैं। अजय राय ने बताया कि कर्मियों को 2017 से लेकर अभी तक एरियर लंबित है वही 3 माह से उन्हें वेतन नहीं दिया जा रहा है जिसकी शिकायत सीएमडी अविनाश कुमार से लेकर विभाग के वरीय पदाधिकारियों को लगातार दी गई है बावजूद उनकी ओर से कहीं कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है इससे यह प्रतीत होता है कि यहां कार्यरत आउटसोर्स एजेंसी वरीय पदाधिकारियों के सह  पर अपनी मनमानी कर रहे हैं जिसे किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। अजय राय ने बताया कि जल्द ही अपनी मांगों को लेकर संघ आंदोलन करेगा ।

यह भी पढ़ें: SC: अमित अग्रवाल शेल कंपनी मेन्टेनएबिलिटी केस में 7 नवम्बर अहम दिन, CJI यूयू ललित के कार्यकाल का अंतिम दिन

Related posts

नींबू की गैरमौजूदगी में लहसुन ने संभाली कमान, तस्वीर देख आ जाएगा मजा

Manoj Singh

आईफोन 14 सीरीज के 4 मॉडल लॉन्च, भारत में इतनी होगी iPhone 14, Watch और Airpods की कीमत

Manoj Singh

Budget 2022: जनता तो चुनावी और लोकलुभावन आम बजट की कर रही उम्मीद, सरकार के मन में क्या?

Pramod Kumar