समाचार प्लस
Breaking गढवा झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand: नक्सलियों से मुक्त होगा बूढ़ा पहाड़, सीआरपीएफ 172 बटालियन के जवानों ने घेरा

Jharkhand: Old mountain will be free from Naxalites, CRPF jawans surrounded

गढ़वा से वीके पांडेय की रिपोर्ट/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

झारखंड और छत्तीसगढ़ पुलिस के लिए दशकों से चुनौती बना बूढ़ा पहाड़ अब पूरी तरह से भाकपा माओवादी नक्सलियों से मुक्त होने की दिशा अग्रसर हो चुका है। बुधवार को जिले के पुलिस कप्तान अंजनी झा और सीआरपीएफ 172 बटालियन के जवानों ने बूढ़ा पहाड़ की चोटी पर पहुंच कर यह अहसास दिलाया की अब इस क्षेत्र में नक्सलियों का नामोनिशान मिटने में ज्यादा दिन नहीं हैं। पुलिस अधीक्षक खुद AK 47 हाथ में लेकर फोटो खींच कर मीडिया कर्मियों को भेजा है।

झारखंड का गढ़वा और लातेहार जिला के बीच बूढ़ा पहाड़ ही एक ऐसा पहाड़ था जो भाकपा माओवादियों का गढ़ माना जाता था, लेकिन बुधवार को गढ़वा के पुलिस अधीक्षक पुलिस और सीआरपीएफ की टीम के साथ बूढ़ा पहाड़ की चोटी पर पहुंच कर पहली सफलता एहसास दिलाया है। सुरक्षा बलो के इस कामयाबी पर पूरे क्षेत्र में अब शांति का माहौल है माओवादियों के हौसले को सुरक्षाबलों ने कुचलने का काम किया है। पुलिस अधीक्षक अंजनी कुमार झा ने बताया कि अब पूरी तरह बूढ़ा पहाड़ गढ़वा पुलिस के कब्जे में है। वहीं दूसरी तरफ लातेहार पुलिस की टीम मोर्चा संभाले हुए है। गढ़वा पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में सुरक्षा बल बूढ़ा पहाड़ के हर तरफ सर्च ऑपरेशन चला रही है। सुरक्षा बल ये जांच कर रहे हैं कि कहीं नक्सलियों ने किसी तरह का कोई लैंड माइंस तो नहीं लगाया है।

यह भी पढ़ें: क्या है पीएमश्री स्कूल योजना? देश के हर ब्लॉक में अपग्रेड होंगे दो स्कूल, झारखंड के 400 से अधिक स्कूलों को लाभ

Related posts

Covid-19: दुनियाभर में कोरोना महामारी से मरने वालों का आंकड़ा 50 लाख पार, भारत में सुधर रहे हालात

Pramod Kumar

GST Council Meet: जेब को झटका! अब डिब्बा बंद दही-पनीर पर भी लगेगा GST, होटल में रुकने से लेकर खाना तक होगा महंगा

Sumeet Roy

Urfi Javed Oops Moment: हील्स में लड़खड़ाए Urfi Javed के कदम तो ड्रेस का कट बना आफत, बोल्डनेस देख फैंस हुए बेकाबू

Manoj Singh