समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand: चार दिन में दूसरा ऐलान, झारखंड समेत 3 राज्यों में 23 से 25 नवंबर तक नक्सली बंद, पुलिस अलर्ट

न्यूज़ डेस्क/ समचार प्लस झारखंड- बिहार

Jharkhand:नक्सली (Naxalites)संगठन भाकपा माओवादी ने 23 से 25 नवंबर तक 4 राज्यों झारखंड (Jharkhand), बिहार (Bihar), उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और छत्तीसगढ़ में बंद बुलाया है. 4 दिनों के अंतराल में नक्सलियों की ओर से दूसरी बार बंद बुलाया गया है. इसके पहले 20 नवंबर को बुलाए गए बंद के दौरान झारखंड में नक्सलियों ने लातेहार और चक्रधरपुर में रेल की पटरियां उड़ा दी थीं. अब दूसरी बार 4 राज्यों में बुलाए गए बंद को लेकर पुलिस और सुरक्षाबलों को एक बार फिर अलर्ट कर दिया गया है.

बड़ी घटना की साजिश की आशंका

खुफिया एजेंसियों ने झारखंड-बिहार की पुलिस को नक्सलियों की तरफ से किसी बड़ी घटना की साजिश की आशंका पर अलग-अलग रिपोर्टें दी हैं. भाकपा माओवादी के शीर्ष नेता प्रशांत बोस (Prashant Bose) और उनकी पत्नी शीला मरांडी की गिरफ्तारी और गढ़चिरौली में नक्सलियों के खिलाफ पिछले दिनों हुई बड़ी कार्रवाई के बाद से नक्सली संगठन में जबर्दस्त बौखलाहट है.

पुलिस पिकेट पर की थी हमले की कोशिश

रविवार को झारखंड की राजधानी रांची से लगभग 50 किलोमीटर दूर अड़की प्रखंड के कोचांग पुलिस पिकेट पर नक्सलियों के एक दस्ते ने हमले की कोशिश की थी. उन्होंने पिकेट को लक्ष्य बनाकर कई राउंड फायरिंग की, जिसका पुलिस ने भी जोरदार जवाब दिया. दोनों ओर से लगभग 100 राउंड फायरिंग हुई. सूचना मिलते ही अतिरिक्त पुलिस बल को मौके पर भेजा गया. पुलिस को भारी पड़ते देख नक्सली भाग खड़े हुए.

अलर्ट है पुलिस

23 से 25 नवंबर तक नक्सलियों की तरफ से बुलाए गए बंद को लेकर झारखंड-बिहार की पुलिस ने सभी हाईवे पर लांग रेंज पेट्रोलिंग शुरू की है. संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त बलों की भी तैनाती की गई है. छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल की पुलिस को भी अलर्ट किया गया है. एक तरफ पुलिस और अर्धसैनिक बल नक्सलियों के खिलाफ लगातार अभियान चला रहे हैं, तो दूसरी तरफ नक्सली अपने संगठन की मजबूत मौजूदगी का अहसास कराने की रणनीति में जुटे हैं. भाकपा माओवादी के प्रवक्ता संकेत द्वारा जारी विज्ञप्ति में पुलिस-प्रशासन की एजेंसियों की कार्रवाई पर विरोध जाहिर किया गया है. नक्सलियों की विज्ञप्ति में किसान आंदोलन के दौरान 600 से भी ज्यादा लोगों की मौत की भी निंदा की गई है.

ये भी पढ़ें : Jharkhand Legislative Assembly foundation day 2021: दूसरी बार बिना नेता प्रतिपक्ष के मना झारखंड विधानसभा स्थापना दिवस

Related posts

Parliament Winter Session: सरकार पर हमला बोलने के लिए विपक्ष की भी है पूरी तैयारी

Pramod Kumar

बिहार के राज्यपाल ने बाबा बैजनाथ मंदिर में की पूजा, देशवासियों के कल्याण के लिए की प्रार्थना

Pramod Kumar

Bihar Politics : सुशील मोदी को अब सता रही लालू की चिंता, कहा- सत्ता के लिए राजद में हो सकती है अनहोनी

Manoj Singh

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.