समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

Jharkhand: दुग्ध उत्पादकों को गुणवत्ता के आधार पर मिलेगा मूल्य, आय में वृद्धि के लिए कृषि मंत्री की पहल का असर

Jharkhand: Milk producers will get price on quality, effect of Agriculture Minister's initiative

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

कृषि मंत्री बादल की किसानों एवं दुग्ध उत्पादकों के प्रति सकारात्मक सोच अब आकार लेने लगी है। बीते 15 दिसंबर को राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड के अध्यक्ष मिनेश शाह के साथ कृषि मंत्री बादल और विभागीय सचिव अबू बकर सिद्दीकी की हुई बैठक के सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं जिसके तहत झारखंड दुग्ध महासंघ से जुड़े हुए किसानों द्वारा दिए गए दूध की कीमत में गुणवत्ता के आधार पर ₹2 से ₹3 की बढ़ोतरी की गई है। इस बारे में झारखंड दुग्ध महासंघ के प्रबंध निदेशक सुधीर कुमार सिंह ने जानकारी दी कि 21 फरवरी 20-22 के प्रभाव से झारखंड के किसानों को बढ़ी हुई कीमत के साथ भुगतान किया जाएगा। साथ ही उन्होंने यह भी जानकारी दी कि उपभोक्ताओं के लिए दूध की कीमत में किसी भी तरह की बढ़ोतरी नहीं की जाएगी और उपभोक्ता पूर्वक पुरानी कीमतों में ही दुग्ध तथा अन्य उत्पाद प्राप्त कर सकेंगे।

कृषि मंत्री बादल कृषि के क्षेत्र में कई बदलाव कर चुके हैं साथ ही कृषक, दुग्ध उत्पादक और पशुपालकों के लिए के योजनाओं का शुभारंभ किया है। बता दें कि 1 अप्रैल 2021 को बादल ने दुग्ध उत्पादकों को एक रुपए प्रति लीटर की सब्सिडी का लाभ भी दिया था। बादल ने राज्य के किसान परिवारों से कहा है कि ज्यादा से ज्यादा किसान मुख्यमंत्री पशुधन योजना से जुड़े।

झारखंड दुग्ध महासंघ के प्रबंध निदेशक ने बताया कि दुग्ध उत्पादकों की कीमत में हुई इस बढ़ोतरी से प्रदेश के किसानों की आय में बढ़ोतरी तो होगी ही साथ ही झारखंड दुग्ध महासंघ किसानों की आय में वृद्धि की दिशा में गोबर खाद प्रबंधन योजना, मधुमक्खी पालन योजना जैसे कदम भी उठाए जा रहे हैं।दूध की कीमतों में हुई वृद्धि से किसानों के बीच खुशी का माहौल है।

यह भी पढ़ें: 55 वर्षीय आईटीबीपी कमांडेंट ने -30 डिग्री सेल्सियस में किये 65 पुश-अप, वीडियो हुआ वायरल

Related posts

Jitan Ram Manjhi’s ‘Indecent’ Remarks for Brahmins : कुंद राजनीति को धार देने में जुटे जीतन राम मांझी! चर्चा में रहने के लिए दे रहे हैं ‘बड़बोले’ बयान?

Manoj Singh

पुण्य-तिथि: दलगत राजनीति में कभी नहीं बंधे, फिर भी राजनीति में रहे ‘अटल’

Sumeet Roy