समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

Jharkhand: खेलमंत्री और शिक्षा मंत्री के साथ JSCA का ‘खेल’, स्टेडियम में नहीं मिलेगी एंट्री

Jharkhand: Sports Minister and Education Minister will not get entry in JSCA Stadium

JSCA News: झारखंड राज्य क्रिकेट संघ (Jharkhand State Cricket Association) ने झारखंड के पर्यटन, कला संस्कृति, खेल और युवा मामलों के मंत्री हाफीजुल हसन और शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो के JSCA अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने का नीतिगत निर्णय लिया है।

1 मई को जेएससीए स्टेडियम में आयोजित वार्षिक आम बैठक (एजीएम) के दौरान सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया और प्रबंधन की नव निर्वाचित समिति को सजा की बिंदुओं पर निर्णय लेने के लिए अधिकृत किया गया।

क्या है मामला

JSCA के पूर्व अध्यक्ष अमिताभ चौधरी ने बिना किसी का नाम लिए इस मुद्दे को उठाया और कहा कि JSCA के तत्कालीन संयुक्त सचिव राजीव बधन को रांची में 19 नवंबर 2021 को आयोजित भारत बनाम न्यूजीलैंड टी 20 मैच के दौरान दो स्वयंभू बड़े लोगों ने गाली दी थी. वहीँ झारखंड राज्य क्रिकेट संघ (जेएससीए) के पूर्व आजीवन सदस्य सह रांची क्रिकेट संघ के पूर्व सचिव सुनील कुमार सिंह का मानना है कि बिना जरूरी प्रोटोकॉल का पालन किए यह फैसला लिया गया है. उनका कहना है कि “दो सरकारी अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय समझ से परे है, क्योंकि यह निर्णय घटना के सात महीने बाद एक नई समिति के गठन के ठीक बाद लिया गया है। इसके अलावा जेपीएससी के अध्यक्ष अमिताभ चौधरी द्वारा उठाए गए सवालों पर एक सरकारी अधिकारी की मौजूदगी में दोनों मंत्रियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। उन्होंने इस निर्णय को असामान्य बताया।

“पांच साल का प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए”

सूत्रों के मुताबिक जेएससीए आलाकमान ने प्रबंधन समिति के प्यादों को मुंबई क्रिकेट संघ की तर्ज पर कम से कम पांच साल का प्रतिबंध लगाने का स्पष्ट निर्देश दिया है. तर्क दिया गया है कि मुंबई में शाहरुख खान ने एक जूनियर स्टाफ के साथ बदसलूकी की थी और पांच साल का प्रतिबंध लगाया गया था, जबकि जेएससीए में तत्कालीन संयुक्त सचिव और मौजूदा कोषाध्यक्ष के साथ बदसलूकी की गई है. ऐसे में पांच साल का प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए।

सवालों के घेरे में विधायकों के मैच

मौजूदा खेल मंत्री के जेएससीए स्टेडियम में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने के फैसले से हर फरवरी में आयोजित होने वाले विधायकों के मैच का भविष्य सवालों के घेरे में है, क्योंकि इसका आयोजन खेल विभाग ही करता है.

ये भी पढ़ें : रामगढ़ रजरप्पा के गोसाई बांध में डूबने से तीन इंजीनियरिंग छात्रों की मौत, नहाने के दौरान हुआ हादसा

JSCA News

Related posts

Disha Patani ने पहनी ट्रांसपेरेंट ड्रेस, बोल्ड लुक देख फैंस के दिलों में मच गई खलबली

Manoj Singh

विद्यार्थियों को समय पर छात्रवृत्ति मिले, इसे हर हाल में सुनिश्चित किया जाए – मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन

Manoj Singh

Assembly Election 2022: किसका मनेगा वैलेंटाइन, कौन मनाएगा होरी, चुनाव आयोग ने जब छीन ली पिचकारी

Pramod Kumar