समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand: जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी ने सदन में उठायी थी आवाज, सम्मेद शिखर को पर्यटन स्थल न बनाये सरकार

Jharkhand: Jamtara MLA Irfan Ansari raised his voice in the House

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

जामताड़ा विधायक डॉ. इरफान अंसारी भी सम्मेद शिखर को पर्यटन स्थल बनाये जाने के विरोध में हैं। उन्होंने एक ट्वीट कर और 21 दिसम्बर, 2022 की प्रेस विज्ञप्ति शेयर की जिसमें उनकी भावनाएं व्यक्त हो रही हैं। उन्होंने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में लिखा था कि गिरिडीह जिले का पारसनाथ पर्वत जैन समुदाय के लिए सबसे महत्वपूर्ण तीर्थ स्थलों में से एक है। जहां 20 जैन तीर्थंकरों ने मोक्ष प्राप्त किया है। यह स्थान काफी पवित्र है। पिछले दिनों सरकार ने इस क्षेत्र को पर्यटन स्थल घोषित किया है जिससे जैन समाज की भावनाएं आहत हुई हैं। पर्यटन स्थल घोषित होने से यहां की पवित्रता भंग हो जायेगी। लोग धार्मिक भावना के बजाय घूमने-फिरने, मौज-मस्ती के लिए यहां आयेंगे। अनेतिक गतिविधियां बढ़ेंगी, शराब मांसाहार बढ़ेगा जो जैन समाज को स्वीकार नहीं है।

21 दिसम्बर, 2022 की विज्ञप्ति में उन्होंने यह भी लिखा- अतः मैं सदन के माध्यम से सरकार से मांग करूंगा कि इस क्षेत्र को पर्यटन क्षेत्र घोषित करने का निर्णय वापस ले और इस तीर्थ को अहिंसक शाकाहार, पवित्र जैन तीर्थ घोषित किया जाये।

डॉ. इरफान अंसारी ने अपने ट्वीट में लिखा- मैं 21.12.2022 को झारखंड विधानसभा में #शिखरजी का मुद्दा उठाने वालों में सबसे पहले लोगों में से एक था और उनसे मांग की थी @JharkhandCMO शिखरजी की पर्यटक स्थिति को हटाने और इसे धार्मिक स्थल घोषित करने के लिए #shikharjibachao #JainCommunityProtest

यह भी पढ़ें: Jharkhand: ‘खतियानी जोहार यात्रा’ के दूसरे चरण में निकलेंगे सीएम हेमंत सोरेन, 17 जनवरी से होगी शुरुआत

Related posts

नेहरू से लेकर नरेंद्र मोदी तक का युग देखने वाली ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ ने दुनिया को कहा अलविदा

Pramod Kumar

70 वर्षों में कहीं भूल तो नहीं गये चीता को, रफ्तार है इसकी पहचान, जानें और भी बहुत कुछ…

Pramod Kumar

जबलपुर न्यू लाइफ स्पेशिलिटी अस्पताल में लगी भीषण आग, 10 लोगों की मौत, 13 की हालत अत्यंत गंभीर

Pramod Kumar