समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand: कहीं CM हेमंत शक्ति परीक्षण की तो नहीं कर रहे तैयारी! कल करना है ईडी का सामना

Jharkhand: Is CM Hemant preparing for the power test? Have to face ED tomorrow

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

Jharkhand: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ईडी का सामना करने से बचने के लिए जितने उपाय करने थे कर लिये, अब वह घड़ी आ गयी है कि उन्हें मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी के सवालों का सामना करना ही है। ईडी का समन मिलने के बाद सीएम हेमंत ने जिन कार्यक्रमों का हवाले देकर समय की मांग की थी, वे सारे कार्यक्रम अब खत्म हो चुके हैं। अब हेमंत ‘गले ‘कार्यक्रम’ की तैयारी में जुट गये हैं। उस कार्यक्रम का नाम है- शक्ति परीक्षण।

हाल के दिनों में देशभर में जितनी भी शीर्ष हस्तियां जांच एजेंसियों के निशाने पर आयीं, सबने एक ही काम किया भीड़ जुटाकर जांच एजेंसियों के कार्यालय जाना, यहां तक कि उनकी जेल यात्रा भी भीड़भाड़ के साथ हुई। कई उदाहरण हैं- कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व राहुल गांधी और सोनिया गांधी, महाराष्ट्र में शिवसेना के संजय राउत, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, दिल्ली सरकार के ही मंत्री सत्येन्द्र जैन, वगैरह-वगैरह। अब बारी हेमंत सोरेन की है!

सीएम हेमंत से ईडी की पूछताछ को लेकर काफी दिनों से झारखंड की सियासत गरम है बता दें, सीएम हेमंत सोरेन, भाई बसंत सोरेन समेत कई सहयोगियों की फर्जी कंपनियों में कथित निवेश समेत कई मामलों में 17 नवंबर को ईडी पूछताछ करने वाली है। सरकार के तीखे तेवर के बाद भाजपा ने राज्यभर में विरोध प्रदर्शन किया। लेकिन अब जब हेमंत सोरेन का ईडी ऑफिस जाना तय है, सरकार अपने आखिरी दांव के रूप में शक्ति प्रदर्शन की तैयारी कर चुकी है। झारखंड स्थापना दिवस के कार्यक्रम से लौटने के बाद सीएम ने झामुमो के विधायकों को बुलाया। बैठक के बाद मंत्री जगरनाथ महतो ने दावा किया कि झामुमो ‘ऑपरेशन लोटस’ की मंशा कामयाब नहीं होने देगी। इसी से यह अनुमान लगाया जा रहा है कि झामुमो कार्यकर्ताओं द्वारा शक्ति परीक्षण की तैयारी कर चुकी है।

झामुमो और कांग्रेस आज करने वाले हैं बैठक

जानकारी के अनुसार झामुमो और उसकी सहयोगी कांग्रेस अलग-अलग बैठकें करने वाले हैं। दोनों पार्टियों ने अपने सभी विधायकों को रांची में ही रहने को भी कहा है। खबर यह भी है कि कांग्रेस अपनी बैठक के बाद अपने विधायक को लेकर हेमंत सोरेन के सरकारी आवास जाएगी। लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि झामुमो के कार्यकर्ता भी रांची में जुटने लगे हैं। मतलब साफ है कि झामुमो कार्यकर्ता सीएम हेमंत को ईडी कार्यालय ले जाने के समय अपनी ताकत का एहसास कराने वाले हैं।

यह भी पढ़ें: झारखंड स्थापना दिवस समारोह में नहीं पहुंचे राज्यपाल Ramesh Bais, चर्चाओं का बाजार गर्म

Related posts

मां बनीं ‘देसी गर्ल’ Priyanka Chopra, सेरोगेसी से हुआ बच्चे का जन्म

Manoj Singh

Nagpur Rape: 17 साल के लड़के ने किया 23 साल की लड़की का किया रेप, पुलिस ने किया चौकाने वाला खुलासा

Sumeet Roy

CM Hemant की ‘सोना सोबरन धोती साड़ी वितरण योजना’ ढक रही गरीबों के तन

Pramod Kumar