समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand: राज्यपाल रमेश बैस ने Open University में ऑनलाइन पंजीकरण का किया उद्घाटन

Jharkhand: Inauguration of online registration in Open University

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

झारखंड के राज्यपाल-सह-राज्य के विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति रमेश बैस ने शुक्रवार को राजभवन में https://jharkhanduniversities.nic.in/jsou के माध्यम से झारखंड राज्य खुला विश्वविद्यालय में ऑनलाइन प्रवेश, पंजीकरण प्रक्रिया का उद्घाटन किया। राज्यपाल महोदय द्वारा उक्त अवसर पर कार्यक्रम विवरणिका और अध्ययन सामग्री का भी अनावरण किया गया। इस अवसर पर राज्यपाल के प्रधान सचिव डॉ. नितिन कुलकर्णी, झारखंड राज्य खुला विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. टी.एन.साहू, कुलसचिव डॉ. घनश्याम सिंह, झारखंड राज्य खुला विश्वविद्यालय, श्री नागेंद्र नाथ मिश्रा, वैज्ञानिक-एफ एंड वरीय तकनीकी निदेशक एवं झारखंड राज्य खुला विश्वविद्यालय के प्रवेश समन्वयक श्री प्रेम सागर केशरी एवं श्री विकास मौर्य आदि उपस्थित थे।

अधिक से अधिक छात्र ले सकेंगे उच्च शिक्षा – राज्यपाल

राज्यपाल ने आशा प्रकट करते हुए कहा कि झारखंड राज्य खुला विश्वविद्यालय के द्वारा अधिक-से-अधिक लोग उच्च शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं। दूरदराज़ के ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले कामकाजी लोग भी इसमें नामांकन लेकर पढ़ाई पूरी कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि इस विश्वविद्यालय के माध्यम से राज्य में उच्च शिक्षा में सकल नामांकन अनुपात में भी वृद्धि होगी।

विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. टी.एन. साहू द्वारा अवगत कराया गया कि झारखंड राज्य खुला विश्वविद्यालय राज्यवासियों के मध्य उच्च शिक्षा को सुगम बनाने के लिए पूर्णतः प्रयासरत है। इस विश्वविद्यालय में नामांकन लेकर अधिक-से-अधिक लोग उच्च शिक्षा हासिल कर सकते हैं। चांसलर पोर्टल https://jharkhanduniversities.nic.in/jsou के माध्यम से ऑनलाइन प्रवेश हेतु आवेदन कर सकते हैं।

कुल सचिव डॉ घनश्याम सिंह ने दी विस्तार से जानकारी

कुलसचिव डॉ. घनश्याम सिंह द्वारा अवगत कराया गया कि झारखंड राज्य खुला विश्वविद्यालय आम आदमी के लिए सस्ती कीमत पर उपलब्ध नई शैक्षणिक तकनीक के उपयोग सहित दूरस्थ और सतत शिक्षा के माध्यम से शिक्षा, अनुसंधान और विविधता द्वारा प्रशिक्षण पर ध्यान केंद्रित करेगा। विश्वविद्यालय द्वारा शैक्षणिक कार्यक्रमों में यूजीसी, एआईसीटीई, एनसीटीई, एनसीआई, बीसीआई, डीईबी और एमसीआई आदि जैसे सांविधिक निकायों द्वारा निर्धारित सभी मानदंडों और विनियमों का सख्ती से पालन किया जाएगा। विश्वविद्यालय का दृष्टिकोण शिक्षा, अनुसंधान, प्रशिक्षण और क्षमता निर्माण के माध्यम से राज्य के विकास में सकारात्मक भूमिका निभाना है, रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देने के लिए कौशल आधारित व्यवसायिक ऐड-ऑन पाठ्यक्रमों पर जोर देना और पहुंच सुनिश्चित करना है।

यह भी पढ़ें: Jharkhand: बैंक और ग्रामीणों के बीच सेतु का कार्य कर रहा वित्तीय साक्षरता केंद्र काउंसलर

Related posts

स्वामी दिव्यानंद बनाये गये श्रीकृष्णजन्म भूमि न्यास के झारखंड अध्यक्ष

Pramod Kumar

केन्द्र पर झारखंड का है 34,862 करोड़ रुपये बकाया, हेमंत सरकार ने केंद्रीय वित्तमंत्री को लिखी चिट्ठी

Pramod Kumar

BJP ने भी कस ली 2024 के चुनावी समर के लिए कमर! 15 राज्यों के नये प्रभारी सब पर पड़ेंगे भारी!

Pramod Kumar