समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

Jharkhand High Court ने रद्द की 2021 नियोजन नीति, अब नहीं रहेगी 10वीं-12वीं झारखंड से पास करने की बाध्यता

झारखंड कर्मचारी चयन आयोग द्वारा ली जाने वाली परीक्षा में झारखंड से ही 10वीं और 12वीं पास की अनिवार्यता को समाप्त करने के लिए प्रार्थी रमेश हांसदा द्वारा दायर याचिका पर झारखंड हाई कोर्ट (Jharkhand High Court) से अहम फैसला आ गया है. झारखंड कर्मचारी चयन आयोग (JSSC) नियुक्ति नियमावली (Recruitment Rules) को चुनौती देने को लेकर दायर याचिका पर झारखंड हाई कोर्ट (Jharkhand High Court)  ने अपना फैसला सुनाया है. अदालत ने यह माना कि हेमंत सरकार के द्वारा नियोजन नीति (JSSC Recruitment Rules) में किया गया संशोधन गलत और असंवैधानिक है, इसलिए इसे रद्द किया जाता है.

झारखंड के बाहर दसवीं और बारहवीं की पढ़ाई करने वाले होंगे पात्र 

अदालत ने अपना फैसले में राज्य सरकार द्वारा वर्ष 2021 में पारित नियोजन नीति को रद्द कर दिया है. झारखंड हाईकोर्ट के तीन न्यायाधीशों की लार्जर बेंच (larger bench) ने यह फ़ैसला सुनाया है. हाईकोर्ट के आदेश के बाद अब झारखंड के बाहर दसवीं और बारहवीं की पढ़ाई करने वाले अभ्यर्थी भी JSSC और JPSC द्वारा ली जाने वाली नियुक्ति प्रतियोगिता में शामिल हो सकते हैं.

अदालत ने फैसला सुरक्षित रखा था

झारखंड कर्मचारी नियुक्ति नियमावली को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई पूरी करने के बाद सात सितंबर को अदालत ने फैसला सुरक्षित रखा था. याचिका दायर कर सरकार की नियुक्ति नियमावली 2021 को चुनौती दी गई थी. इसमें नियुक्ति नियमाली में संशोधन को गलत बताते हुए रद्द करने का आग्रह किया गया था.

ये भी पढ़ें : मुख्यमंत्री Hemant Soren ने बाबाधाम में टेका मत्था, मांगी राज्य की खुशहाली

Related posts

Vehicle Scrappage Policy: अनफिट वाहनों को वैज्ञानिक तरीके से हटाने की मुहिम शुरू

Pramod Kumar

NASA DART Mission: पृथ्वी को बचाने का महाटेस्ट सफल, एस्टेरॉयड से टकराया नासा का स्पेसक्राफ्ट

Manoj Singh

मणिपुर में भूस्खलन में धंसा आर्मी कैंप, 50 से अधिक जवान मिट्टी में दबे

Sumeet Roy