समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand: हेमंत सोरेन ने NDA की राष्ट्रपति उम्मीदवार के समर्थन पर पत्ते तो नहीं खोले, पर उनका ट्वीट कहता है ‘बहुत कुछ’

Jharkhand: Hemant's tweet on supporting NDA presidential candidate says 'a lot'

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

सोमवार को एनडीए की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू झारखंड में राज्य के सांसदों और विधायकों से अपने पक्ष में समर्थन मांगने पहुंची हैं। एनडीए के दलों का तो द्रौपदी मुर्मू को समर्थन है ही, आज के उनके दौरे पर राज्य के निर्दलीय विधायकों ने भी उन्हें अपना समर्थन दिया है। निगाहें अब झामुमो पर हैं। क्योंकि झामुमो ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं। हालांकि पहली बार किसी आदिवासी महिला के राष्ट्रपति उम्मीदवार के रूप में खड़ा होने पर एक स्वाभाविक झुकाव तो है ही, उस पर दबाव भी है। लेकिन राजनीतिक विवशता के कारण झामुमो ऊहापोह की स्थिति में है। थोड़ी देर में सीएम हेमंत सोरेन, झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन के साथ द्रौपदी मुर्मू की मुलाकात होने वाली है। इसके बाद स्पष्ट हो जायेगा कि झामुमो उन्हें समर्थन दे रहा है या नहीं। झामुमो अगर द्रौपदी मुर्मू को अपना समर्थन देता है तो निस्संदेह यह आदिवासियत का न सिर्फ सच्चा सम्मान होगा, बल्कि आदिवासी समुदाय में इसका एक सकारात्मक संदेश भी जायेगा। जिसका राजनीतिक लाभ आने वाले समय में भी झामुमो को मिलना ही है।

भले ही झामुमो ने अभी द्रौपदी मुर्मू को समर्थन पर अपने पत्ते नहीं खोले हों, लेकिन उनके आगमन से पहले झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के एक ट्वीट ने राज्य की राजनीति में हलचल अवश्य मचा दी है। सुबह 10 बजकर 55 मिनट पर किए गए ट्वीट में हेमंत सोरेन ने कहा है, “एनडीए से राष्ट्रपति उम्मीदवार आदरणीय श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी आज झारखंड आ रही हैं। भगवान बिरसा की पावन धरती पर उनका हार्दिक स्वागत है। आदरणीय द्रौपदी मुर्मू जी को हमारी ओर से अनेक-अनेक शुभकामनाएं और जोहार।”

इस संदेश से भले ही यह संकेत न मिलता हो कि वह NDA के राष्ट्रपति उम्मीदवार का समर्थन कर रहे हैं या नहीं, लेकिन महागठबंधन दलों में हलचल अवश्य मच गयी होगी। भले ही सीएम के ट्वीट में ऐसा कुछ भी नहीं है, फिर भी मुख्यमंत्री के ट्वीट को इस बात का स्पष्ट संकेत माना जा रहा है कि पार्टी एनडीए प्रत्याशी को अपना समर्थन देगी।

वैसे भी जब से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मिल कर झारखंड लौटे हैं, न तो वह केन्द्र सरकार पर पहले की तरह हमलावार दिख रहे हैं और न ही भाजपा उन पर तीखे हमले कर रही है। इसको लेकर भी महागठबंधन के बाकी दल सशंकित हैं। कहीं यह झामुमो और भाजपा के नये रिलेशनशिप की शुरुआत तो नहीं?

यह भी पढ़ें: Maharashtra: फ्लोर टेस्ट में एकनाथ शिंदे पास, कानूनी लड़ाई के मूड में उद्धव ठाकरे

Related posts

इरफान अंसारी समेत झारखंड के तीन विधायकों को बंगाल पुलिस ने हिरासत में लिया, गाड़ी से मिले करोड़ों रुपये

Sumeet Roy

Katihar: उत्पाद विभाग ने कार से जब्त की 123 लीटर शराब, चालक भागने में सफल

Pramod Kumar

Bihar: सीएम नीतीश कुमार ने समलैंगिकता पर कही बड़ी बात, ‘लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा…’

Pramod Kumar