समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

Jharkhand HC ने हाथी और बाघिन की मौत की जानकारी छुपाने पर जतायी नाराजगी, फोरेस्टर और रेंजर के खाली पदों पर किया सवाल

Jharkhand HC expresses displeasure over hiding information about the death of elephant and tigress

न्यूज डेस्क/समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

पिछले कुछ वर्षों में पलामू टाइगर रिज़र्व में एक हाथी और बाघिन की मौत की जानकारी छुपाये जाने पर जवाब मांगा है। इतना ही नहीं नाराज हाईकोर्ट ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए राज्य सरकार से यह भी पूछा है कि राज्य में रेंजर और फोरेस्टर के कितने पद ख़ाली हैं? जनहित याचिका में की चीफ जस्टिस डॉ रविरंजन और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की खंडपीठ सुनवाई कर रही है। इसके पहले हाईकोर्ट ने लातेहार में हुई हाथी व हाथी के बच्चे की मौत पर भी स्वत: संज्ञान लिया था।

हाईकोर्ट ने एक हस्तक्षेप याचिका पर भी राज्य सरकार से जवाब मांगा है। यह याचिका राज्य के पूर्व मंत्री और जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय की ओर से दाखिल की गयी थी। पूर्व मंत्री के अधिवक्ता दिवाकर उपाध्याय के मुताबिक शुक्रवार को हुई सुनवाई के दौरान अदालत हस्तक्षेप याचिका पर भी राज्य सरकार से जवाब मांगा है। राज्य सरकार की ओर से अधिवक्ता पियूष चित्रेश एवं केंद्र सरकार की ओर से एएसजीआई प्रशांत पल्लव अदालत के समक्ष उपस्थित हुए। याचिका पर अगली सुनवाई 25 मार्च को होगी।

यह भी पढ़े: Bhagalpur Blast होते ही याद आ गया ‘1989’, आज भी भूले नहीं हैं लोग

Related posts

World Elephant Day: नहीं बन सकते ‘हाथी मेरे साथी’, झारखंड में हाथियों और इंसानों के बीच लगातार बढ़ रहा द्वंद्व

Sumeet Roy

Entertainment: रजनीकांत की ‘अन्नाथे’ को अजित कुमार की ’वलिमै’ ने पीछे छोड़ा, 2 दिनों में 100 करोड़

Pramod Kumar

Jharkhand: पाकुड़ में संरक्षण एवं शोध कार्य के लिए फॉसिल इकट्ठा करने का काम हुआ शुरू

Pramod Kumar