समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची लातेहार

राज्यपाल रमेश बैस ने किया नेतरहाट आवासीय विद्यालय का भ्रमण, बोले-‘नेशन फर्स्ट’ की भावना जागृत करें छात्र

governor ramesh bais

राज्यपाल रमेश बैस (governor ramesh bais)ने नेतरहाट के दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन रविवार को नेतरहाट आवासीय  विद्यालय का भ्रमण किया। विद्यालय प्रबंधन ने उनके सम्मान में एक समारोह का आयोजन किया। इस दौरान राज्यपाल ने विद्यालय के प्रांगण में पौधरोपण किया। बाद में उन्होंने विद्यालय की लाइब्रेरी, लैबोरेट्री, क्लासरूम आदि का भी भ्रमण किया। विद्यालय के छात्रों ने अपने हाथों से बनाए चित्र उन्हें भेंट किया।

”नेतरहाट की प्राकृतिक सौंदर्य को देखने की हमेशा से इच्छा रही है” 

राज्यपाल ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि उनकी इच्छा थी कि नेतरहाट जाकर यहां की प्राकृतिक सौंदर्यता को देखें। उन्होंने कहा कि नेतरहाट वाकई काफी खूबसूरत जगह है। नेतरहाट के अलावा राज्य के कई अन्य जिलों में भी कई ऐसे पर्यटक स्थल है, जिन्हें पर्यटन के क्षेत्र में काफी अधिक विकसित किया जा सकता है। यदि झारखंड में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए योजना बनाकर काम किया जाए तो यह राज्य देश का सबसे बड़ा पर्यटन हब बनकर उभर सकता है।

“धार्मिक रूप से भी कई ऐसे स्थल हैं जो पर्यटन के क्षेत्र में लोगों को आकर्षित करते हैं”

उन्होंने कहा कि वह अक्सर राज्य के मंत्रियों और अधिकारियों से इस बात पर चर्चा करते हैं कि यहां के पर्यटन इलाकों को पर्यटन के क्षेत्र में विकसित किया जाए। उन्होंने कहा कि झारखंड में प्राकृतिक सुंदरता के साथ साथ धार्मिक रूप से भी कई ऐसे स्थल हैं जो पर्यटन के क्षेत्र में लोगों को आकर्षित करते हैं। पर्यटन क्षेत्रों में सुविधा विकसित होने से राज्य में पर्यटन को काफी बढ़ावा मिल सकता है।

नेतरहाट आवासीय विद्यालय की जमकर प्रशंसा

राज्यपाल ने इस दौरान नेतरहाट आवासीय विद्यालय की भी जमकर प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि नेतरहाट आवासीय विद्यालय एक ऐसा विद्यालय है जहां बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ संस्कार भी दिए जाते हैं। उन्होंने कहा कि नेतरहाट आवासीय विद्यालय में पढ़कर निकले कई छात्र आज देश के कई महत्वपूर्ण पदों पर कार्य करते हुए देश का नाम रोशन कर रहे हैं। लातेहार के पुलिस अधीक्षक अंजनी अंजन भी नेतरहाट के ही पूर्ववर्ती छात्र रह चुके हैं। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि समाज, राज्य एवं राष्ट्र को न भूलें। आपमें नेशन फ़र्स्ट की भावना जरूर होनी चाहिये। भारत की भूमि वंदनीय है। इस राष्ट्र से ही हमारी पहचान है। इसलिए राष्ट्र की सेवा जीवनपर्यंत करते रहें ताकि आपकी आनेवाली पीढ़ी आपको याद करें।

ये भी पढ़ें : बाबूलाल मरांडी ने सरहुल और रामनवमी जुलूस शोभा यात्रा निकालने के संबंध में मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

 

Related posts

Jharkhand: माइक्रोस्कोप से कोकून की टेस्टिंग कर ग्रामीण महिलाएं बना रहीं रेशम के धागे

Pramod Kumar

Solar Energy: झारखंड में 6 परियोजनाओं को स्वीकृति, गेतलसूद डैम पर बनेगा 100 मेगावाट क्षमता का फ्लोटिंग सौर पार्क

Manoj Singh

झारखंड की सभी अदालतों में अब फिजिकल सुनवाई होगी, हाई कोर्ट ने जारी किया आदेश

Manoj Singh