समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand: राज्यपाल ने श्री जगदीशप्रसाद झाबरमल टिबड़ेवाला विश्वविद्यालय, झुंझुनू के विशेष दीक्षांत समारोह में बांटी डी. लिट उपाधियां

Jharkhand: Governor distributed D. Lit degrees at the special convocation of Shri Jagdishprasad Jhabarmal Tibrewala University, Jhunjhunu

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

माननीय राज्यपाल रमेश बैस ने श्री जगदीशप्रसाद झाबरमल टिबड़ेवाला विश्वविद्यालय, झुंझुनू द्वारा झारखंड राज भवन, रांची में आयोजित विशेष दीक्षांत समारोह में डी. लिट की मानद उपाधियां प्रदान कीं। इस अवसर पर राज्यपाल ने छात्रों को सम्बोधित करते हुए उन्हें प्रेरित भी किया। उन्होंने कहा-

श्री जगदीशप्रसाद झाबरमल टिबड़ेवाला विश्वविद्यालय, झुंझुनू द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में भाग लेते हुए मुझे अपार खुशी हो रही है। आप सभी का राज भवन, झारखंड में हार्दिक स्वागत है।

खुशी की बात है कि श्री जगदीशप्रसाद झाबरमल टिबड़ेवाला विश्वविद्यालय, झुंझुनू अपने स्थापना काल से ही विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट व लक्ष्य-उन्मुख शिक्षा प्रदान करने की दिशा में प्रतिबद्ध है। विश्वविद्यालय विश्व में तेजी से उभरती हुई औद्योगिक जरूरतों एवं शोध संबंधी आवश्यकतों को ध्यान में रखते हुए विद्यार्थियों को व्यवहारिक ज्ञान सुलभ कराने की दिशा में प्रयासरत है।

शिक्षा से ही किसी भी भी देश व समाज की उन्नति संभव है, शिक्षा ही एक विकसित समाज की नींव होती है। मुझे प्रसन्नता है कि यह विश्वविद्यालय ग्रामीण एवं महिला शिक्षा के क्षेत्र में प्रतिबद्ध है और आशा है कि यह विश्वविद्यालय अपनी उपलब्धियों से अन्य शिक्षण संस्थानों के लिए प्रेरणा का कार्य करेगा और किसी की भी गरीबी उसके उच्च शिक्षा हासिल करने में बाधक नहीं होगी।

यह विश्वविद्यालय अपनी कार्यशैली से देश के अन्य निजी विश्वविद्यालयों को यह भी संदेश देता है कि शिक्षण संस्थान का उद्देश्य विद्यार्थियों को शिक्षा सुलभ कराने के प्रति पूर्णतः समर्पित रहना है। उन्हें विद्यार्थियों को गुणात्मक शिक्षा प्रदान कराने की दिशा में सचेष्ट रहने के साथ-साथ प्रोत्साहित भी करना चाहिए।

मुझे इस विश्वविद्यालय द्वारा डी. लिट की मानद उपाधि प्रदान करना विश्वविद्यालय का मेरे प्रति स्नेह को दर्शाता है। मैं तो चाहता था कि आपके विश्वविद्यालय में जाकर और वहां का दौरा कर डी. लिट की उपाधि ग्रहण करूं, इससे मुझे और भी प्रसन्नता होती। लेकिन पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों व व्यस्तताओं के कारण मैं आपके विश्वविद्यालय में नहीं आ सका। मैं आभारी हूं कि मेरी व्यस्तताओं को समझते हुए आपने आज यहां आकर सम्मान समारोह का आयोजन किया। मैं आप सबका मेरे प्रति स्नेह के लिए आभारी हूं।

मुझे यह जानकर खुशी हो रही है कि विश्वविद्यालय द्वारा विभिन्न क्षेत्रों की विभिन्न हस्तियों को देश की उत्कृष्ट सेवा में योगदान देने हेतु डी. लिट की उपाधि से सम्मानित किया जाता रहा है। आज विश्वविद्यालय द्वारा मुझे सम्मानित किया जा रहा है। मैं अपने-आपको सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूं।

मुझे यह जानकर अपार प्रसन्नता हो रही है कि इस विश्वविद्यालय ने शिक्षा और विकास के क्षेत्र में अनुकरणीय कार्य किया है। मैं झुंझुनू के ग्रामीण क्षेत्र में इस विश्वविद्यालय को खोलने की उनकी अवधारणा की सराहना करता हूं। इस विश्वविद्यालय द्वारा मेधावी छात्राओं के लिए शैक्षणिक शुल्क में शत-प्रतिशत और प्रत्येक छात्रा को 75% शुल्क में छूट देना बहुत ही प्रशंसनीय है। यह महिला शिक्षा व महिला सशक्तीकरण की दिशा में एक नेक पहल है।

डॉ. विनोद टिबड़ेवाला जी के कुशल नेतृत्व में इस विश्वविद्यालय के अधिकारियों द्वारा इस विश्वविद्यालय को एक शोध उन्मुख विश्वविद्यालय बनाने की दिशा में सतत प्रयास किए जा रहे हैं। मुझे बताया गया कि विश्वविद्यालय में प्रभावी प्लेसमेंट सेल है और इसके माध्यम से विद्यार्थियों को रोजगार दिलाने के प्रयास किए जाते हैं।

अत्यंत ही हर्ष की बात है कि श्री विनोद टिबड़ेवाला जी हिन्दी को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ावा देने के लिए निरंतर प्रयास कर रहे हैं। झुंझुनू और उसके आसपास रहने वाले लोगों के लिए आप अस्पताल जैसी कई महत्वपूर्ण सुविधाएं उपलब्ध करा रहे हैं। यह एक सामाजिक दायित्व के साथ-साथ बहुत ही सराहनीय कार्य है।

किसी भी विश्वविद्यालय की स्थापना व संचालन के पीछे समाज का अहम योगदान होता है। ऐसे में, किसी भी विश्वविद्यालय द्वारा यूनिवर्सिटी सोशल रिस्पॉन्सबिलिटी के तहत समाजहित में इस प्रकार के पुनीत कार्य करना चाहिये। मैं राजस्थानी सेवा संघ ट्रस्ट को झुंझुनू जिले में विभिन्न सामाजिक गतिविधियों का संचालन करने के लिए बधाई देता हूं।

मुझे आशा है कि आपके विश्वविद्यालय से उत्तीर्ण होने वाले विद्यार्थी अपनी प्रतिभा एवं संस्कार से राष्ट्र निर्माण के क्ष्रेत्र में सक्रिय योगदान देंगे। आपके विश्वविद्यालय के सभी विद्यार्थियों एवं शिक्षकों को मेरी हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं।

जय हिन्द!

यह भी पढ़ें:  पलामू में लालू की तीन दिनों की जमी है चौपाल, झारखंड में फिर से लालटेन जला पायेंगे लालू और लालू के लाल

Related posts

Jharkhand: नौकरी भी छीनता है जेपीएससी! आयोग की गलतियों का खमियाजा क्यों भुगतें अभ्यर्थी

Pramod Kumar

Dhanbad: मरीज के नाजुक अंग में फंसे बेयरिंग को जेपी हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने निकाला

Pramod Kumar

‘आश्रम 3’ रिलीज होते ही और भी बोल्ड हुईं Esha Gupta, शेयर कर दी ऐसी कातिलाना तस्वीर

Manoj Singh