समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand: अंकिता हत्याकांड केस का निष्पादन फास्ट ट्रैक कोर्ट से, एडीजी रैंक के अधिकारी से अनुसंधान का सीएम का निर्देश

Jharkhand: Execution of Ankita murder case from fast track court

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

दुमका की अंकिता की जिंदा जला देने के बाद जिंदगी मौत से जूझते हुए मौत के बाद पूरा झारखंड उबाल पर है। न सिर्फ दुमका, बल्कि पूरे झारखंड में इस घटना को लेकर प्रदर्शन और दोषियों को फांसी पर लटकाये जाने की मांग की जा रही है। इस बीच अपनी राजनीतिक परेशानियों में उलझी झारखंड सरकार अचानक जागी है और आनन-फानन में पहले तो 10 लाख रुपये की अनुग्रह राशि की घोषणा करते हुए फास्ट ट्रैक कोर्ट से केस के निष्पादन का निर्देश दिया है।

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने दुमका निवासी अंकिता की मौत पर गहरा दुःख एवं शोक व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने दिवंगत अंकिता के परिजनों को 10 लाख रूपये की सहायता राशि उपलब्ध कराने का आदेश दुमका जिला प्रशासन को दिया है। उन्होंने घटना का फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट से निष्पादन हेतु निर्देश दिया है। साथ ही, पुलिस महानिदेशक को उक्त मामले में एडीजी रैंक के अधिकारी द्वारा अनुसंधान की प्रगति पर शीघ्र रिपोर्ट देने को कहा है। मुख्यमंत्री ने कहा इस तरह की घटना का समाज में कोई स्थान नहीं है। दोषी को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने ट्वीट कर कहा- ‘अंकित बिटिया को भावभीनी श्रद्धांजलि। अंकिता के परिजनों को रु. 10 लाख की सहायता राशि के साथ इस घृणित घटना का फास्ट ट्रैक से निष्पादन हेतु निर्देश दिया है। पुलिस महानिदेशक को भी उक्त मामले में एडीजी रैंक अधिकारी द्वारा अनुसंधान की प्रगति पर शीघ्र रिपोर्ट देने हेतु निर्देश दिया है।’

इस बीच राज्यपाल रमेश बैस ने मामले का संज्ञान लिया है। राज्यपाल ने मुख्य सचिव और डीजीपी को राजभवन तलब किया। माननीय राज्यपाल रमेश बैस ने घटना को अत्यंत दुखद बताते हुए कहा है कि एक लड़की जिसने अभी पूरी दुनिया भी नहीं देखी थी, उसका इस प्रकार से अंत बहुत ही पीड़ादायक है। राज्यपाल महोदय ने शोक शंतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने अंकिता के पिता से बात कर उनसे पूरी घटना की जानकारी ली एवं व्यक्तिगत रूप से सांत्वना दी।
उन्होंने पुलिस महानिदेशक से आज दूरभाष पर वार्ता कर अंकिता की मौत के मामले में स्थानीय पुलिस की भूमिका की जाँच करने का आदेश दिया। माननीय राज्यपाल ने इस घटना की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में करने की बात कही। राज्यपाल महोदय ने पीड़ित के परिवार को तत्काल 2 लाख की राशि अपने विवेकाधीन अनुदान मद से देने की भी घोषणा की।

बता दें घटना के विरोध में दुमका में भारी संख्या में महिला-पुरुष सड़क पर उतरे थे। बाजार स्वतःस्फूर्त बंद है। विरोध प्रदर्शन कर रहे लोग अंकिता के हत्यारे के लिए फांसी की सजा की मांग कर रहे हैं। वहीं किसी अनहोनी से निपटने के लिये शहर में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। बता दें, एकतरफा प्यार में विफल शाहरुख हुसैन नामक युवक ने 12वीं की छात्रा अंकिता को 23 अगस्त को पेट्रोल छिड़कर उसके ही घर में जला दिया था। गंभीर स्थिति दुमका के फूलो झानो मेडिकल कॉलेज अस्पताल 27 अगस्त की रात उसकी मौत हो गई।

यह भी पढ़ें: Reliance AGM: दीपावली से देश में Jio 5G की सेवाओं की शुरुआत, मुकेश अम्बानी ने किया ऐलान

Related posts

New Year Party: सर्दी में जब पियोगे यारों… गरम कोट बन जाएगा…नए साल के जश्न में छलकाएं जाम, लेकिन जरा संभलकर, हैंगओवर पड़ सकता है महंगा 

Manoj Singh

National Herald: अबकी बार सोनिया पहुंची हैं ईडी दरबार, भड़की कांग्रेस पर भड़का सोशल मीडिया

Pramod Kumar

Chhath Parv 2021: खरना आज, जानें इसका महत्व और पूजन विधि

Manoj Singh