समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand: पंकज मिश्रा प्रसंग में केस को कमजोर करने के शक में अब ईडी पुलिस अधिकारियों को घेरेगी!

Jharkhand: ED will now surround police officers on suspicion of weakening the case!

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

प्रवर्तन निदेशालय को शक है कि मुख्यमंत्री के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा के केस को साहिबगंज पुलिस ने कमजोर करने का प्रयास किया है। पुलिस एफआईआर को कमजोर करके पंकज मिश्रा और अन्य के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग जांच को खराब करने की कोशिश कर रही है।

पंकज मिश्रा समेत अन्य मामलों में पूछताछ करने के लिए ईडी ने 5 दिसम्बर को बिरसा जेल के सुपरिटेंडेंट हामिद अख्तर सहित चार लोगों को समन देकर अपने ऑफिस बुलाया है। बरहरवा टोल प्लाजा मामले के जांच अधिकारी शरफुद्दीन खान को समन जारी किया है। पंकज मिश्रा के ड्राइवर सूरज पंडित और चंदन को ईडी ने 6 दिसंबर और 7 दिसम्बर को ईडी ऑफिस आने को कहा है।

पंकज मिश्रा को कैसे मिली क्लीन चिट?

बरहरवा टोल प्लाजा मामले में पंकज मिश्रा को मिली क्लीन चिट पर ईडी को संदेह है। इसकी गहराई से जांच करना चाहता है। ईडी ने पहले शरफुद्दीन खान का बयान दर्ज किया था। जांच एजेंसी को संदेह है कि कहीं साहिबगंज पुलिस उन पुलिस एफआईआर को कमजोर करके पंकज मिश्रा और अन्य के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग जांच को खराब करने की कोशिश तो नहीं की है। बता दें कि दुमका रेंज के डीआईजी ने ईडी की आशंकाओं को खारिज करते हुए एक विस्तृत प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि आरोप सिद्ध नहीं होने के कारण पंकज मिश्रा को दो मामलों में क्लीन चिट दे दी गई है।

यह भी पढ़े: मुख्यमंत्री Hemant Soren और सांसद शिबू सोरेन पहुंचे रामगढ़, शहीद सोबरन सोरेन को दी श्रद्धांजलि

Related posts

MLA Dhullu Mahto: बढ़ सकती हैं BJP विधायक ढुल्लू महतो की मुश्किलें, HC ने संपत्ति के मामले में आयकर विभाग से मांगा जवाब

Manoj Singh

Kali Puja 2022 Ranchi: राजधानी में काली पूजा की धूम, पूजा पंडालों में आज विराजेंगी मां काली

Manoj Singh

देश में बढ़ा 190% नकली नोटों का धंधा, महाराष्ट्र सबसे ऊपर, झारखंड में कोई ‘काला कारोबार’ नहीं

Pramod Kumar