समाचार प्लस
Breaking अपराध झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand ED Raid: देश भर में 18 से ज्यादा ठिकानों पर ED का छापा, IAS Pooja Singhal समेत कई हाईप्रोफाइल नाम हैं शामिल

Jharkhand ED Raid in different cities in india

Jharkhand ED Raid: झारखंड में अवैध खनन मामले में शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय ने बड़ी कार्रवाई की है। ईडी की टीम ने देश भर में 18 से ज्यादा ठिकानों पर छापेमारी की है। इसमें झारखंड में सबसे ज्यादा जगहों पर छापे पड़े हैं। बताया जा रहा है कि ईडी को काफी समय से अवैध खनन के जरिए मनी लॉन्ड्रिंग की शिकायत मिल रही थी। इसके बाद ईडी ने इस मामले में गोपनीय जानकारी इकट्ठा की और एक साथ कई जगहों पर छापेमारी की।

आईएएस अधिकारी के घर पर भी छापा 
बताया जा रहा है कि ईडी की टीम ने देश में एक साथ 18 ठिकानों पर छापेमारी की है। इसमें झारखंड की एक महिला आईएएस अधिकारी का घर भी है। ईडी की इस कार्रवाई से पूरे राज्य में सनसनी फैल गई है। सूत्रों की मानें तो ईडी की टीम ने झारखंड की माइनिंग सेक्रेटरी पूजा सिंघल के घर पर छापेमारी की है। इसके अलावा उसे कई अधिकारियों और नेताओं के खिलाफ सबूत मिले हैं, जो अवैध खनन के जरिए मोटी कमाई कर रहे हैं। इस संबंध में जयपुर, फरीदाबाद, चंडीगढ़, मुजफ्फरपुर, कोलकता में भी कई जगहों पर छापेमारी की गई है।

उधर, भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने कहा, देश का 45-50% खनिज झारखंड से आता है। सीएम ने खुद इस मंत्रालय को अपने पास रखा है। मंत्री होने के नाते अपने रिश्तेदारों, विधायकों को अवैध खनन पट्टे आवंटित किए। एजेंसियों को भ्रष्टाचार की जानकारी मिली और कार्रवाई की गई।

2012 में दर्ज हुआ था मामला 
एंटी करप्शन ब्यूरो ने अवैध खनन मामले में 2012 में जूनियर इंजीनियर राम विनोद सिन्हा के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इसके बाद इस मामले में कई हाईप्रोफाइल नाम सामने आए थे। पता चला था कि अवैध खनन के जरिए मनी लॉन्ड्रिंग की जा रही है। उस समय सामने आया था कि कई आईएएस अधिकारियों और नेताओं के जेई राम विनोद सिन्हा से अच्छे संबंध थे। जानकारी सामने आने के बाद अब प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने कार्रवाई की है।

इसे भी पढें : ED Raid IAS Pooja Singhal: अवैध खनन पर ED ‘रेड’, IAS Pooja Singhal से जुड़े देशभर के  20 ठिकानों पर ईडी की छापेमारी

Jharkhand ED Raid

Related posts

Bank holidays in November 2021: अगले हफ्ते 5 दिन रहेंगे बंद बैंक, निपटा लें जरूरी काम

Manoj Singh

Jharkhand: खतियान के आधार पर नियोजन नीति बनाने में सीएम हेमंत सोरेन फेल!

Pramod Kumar

SC Decision: पीएम सुरक्षा में चूक का जिम्मेवार कौन, तय करेगी जस्टिस इंदु मल्होत्रा की जांच टीम

Pramod Kumar