समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand: CM हेमंत सोरेन ने 3 साल की उपलब्धियां गिना कर विपक्ष को दिया जवाब

Jharkhand: CM Hemant Soren replied to the opposition by counting the achievements of 3 years

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

29 दिसंबर को झारखंड की हेमंत सोरेन की सरकार के कार्यकाल के 3 साल पूरे हो रहे हैं। इस मौके पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपनी सरकार के 3 वर्ष कई उपलब्धियां भी गिनाईं और विपक्ष को जवाब भी दिया। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने अपने कार्यकाल में आदिवासियों, दलितों और पिछड़ों के कल्याण के लिए जितने कार्य किये, उतना किसी भी सरकार ने 22 वर्षों में नहीं किया। उन्होंने अपनी सबसे बड़ी उपलब्धियों में 1932 के खतियान आधारित स्थानीयता नीति को कहा।

इस दौरान हेमंत सोरेन ने विपक्ष पर कुछ हमले भी किये। हेमंत सोरेन ने विपक्ष पर बाहरी-भीतरी और आदिवासियों की राजनीति करने का आरोप लगाया। फिर कहा कि हमारी सरकार में राज्य के हर वर्ग के अधिकार और हक को सुरक्षित रखने का काम किया गया है। क्या यह आदिवासी राजनीति का नमूना है?

हेमंत सोरेन ने कहा कि हमारी सरकार ने राज्य में रोजगार के प्रयास किये और नियोजन नीति भी पेश किया, लेकिन झारखंड हाई कोर्ट में नियोजन नीति रद्द कर दिया है। उन्होंने कहा कि कोर्ट ने नियोजन नीति को क्यों निरस्त किया है, उसका कानूनी आकलन करेंगे। नौजवानों का भविष्य खराब ना हो, इनकी उन्हें चिंता है। आरक्षित लोग, बिना स्थानीयता नीति या नियोजन नीति के भी सुरक्षित हैं।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की गिनायी गयी अन्य उपलब्धियां
  • राज्य आदिवासियों, दलितों और पिछड़ो का राज्य है और कई मायनों मे वे आज भी पिछड़े हैं। सरकार ने इन वर्गों को अपने पैरों पर खड़ा करने का काम किया है।
  • राज्य आगे बढ़ रहा है और आगे बढ़ने से इसे कोई नहीं रोक सकता। राज्य को विकसीत राज्य की श्रेणी में खड़ा करना है।
  • राज्य में बीस वर्षों से मायूस चेहरों पर खुशी लौट रही है।
  • हमने और जनता ने विपक्ष को सही जगह पहुंचाया है।
  • मुख्य विपक्षी देश का नीति निर्धारण करते हैं। ग्रामीण क्षेत्र के युवा नौकरी के लिए सेना, रेलवे और बैंकों में क्या स्थिति है। आप देख रहे हैं। बेरोजगारी का पहाड़ लगा है। इस वर्ग की बहुत चिंता है।
  • देश के विभिन्न राज्यों मे महिलाओ पर वारदातें हो रही हैं।  नयी विकृतियां समाज में आ रही हैं।
  • सरकार के निर्णय से आदिवासी-मूलवासी भी अपने पैरो पर खड़े हो रहे हैं और सरकार भी खड़ी है।
  • नई आपदा कोरोना फिर से सर उठा रहा है, इस महामारी में हमने राज्य को बेहतर तरीके से सम्भाला।
  • सरकार ने तो साल ही ही काम करके दिखाया है। दो साल तो कोरोना में निकल गया।
  • सरकार अपनी प्रतिबद्धताओं पर कायम है और उसे पूरा भी करेंगी।

यह भी पढ़ें: Jharkhand की अभिनेत्री रिया की हावड़ा में हत्या, लूट के दौरान लुटेरों ने मारी गोली

Related posts

WHO warns on Omicron; ‘इवेंट का कैंसिल होना जिंदगी के कैंसिल होने से बेहतर’, WHO चीफ ने ओमिक्रॉन को लेकर चेताया; सेलिब्रेशन बाद में करें

Manoj Singh

Farmers Protest : एक साल चला किसानों का आन्दोलन खत्म, 11 दिसम्बर से घर वापस लौटने लगेंगे किसान

Pramod Kumar

PM Modi ने नेताजी को समर्पित राष्ट्रीय स्मारक के मॉडल का किया अनावरण, 21 द्वीपों को मिला परमवीर चक्र विजेताओं का नाम

Manoj Singh