समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand: ‘1932’ के निर्णय को भाजपा मानती है ‘न विधि सम्मत, न सर्वसम्मत’, हड़बड़ी में कर लिया फैसला

Jharkhand: BJP considers the decision of '1932' 'neither legal, nor unanimous'

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

भाजपा जनता के हित में लिये गये हर फैसले का सम्मान करती है, लेकिन हेमंत सरकार द्वारा कैबिनट में मंजूर किये गये 1932 खतियान आधारित स्थानीय नीति पर उसे आपत्ति है, क्योंकि वह मानती है कि इसमें विसंगतियां है। भाजपा ने इसी बात पर चर्चा के लिए गुरुवार को भाजपा प्रदेश कार्यालय में  बैठक करने के बाद  प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जनता के सामने अपनी स्थिति को स्पष्ट करने का प्रयास किया। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश, विधानसभा में भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी एवं भाजपा की सांसद व केंद्रीय मंत्री अन्नपूर्णा देवी मौजूद थे। स्थानीय नीति  एवं पिछड़ा वर्ग आरक्षण के संबंध में झारखंड सरकार द्वारा हुए कैबिनेट के निर्णय के बाद भाजपा कोर कमेटी ने गुरुवार को देर शाम भाजपा प्रदेश कार्यालय में सेमी वर्चुअल मोड में बैठक की और उसके बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस करके अपनी स्थिति स्पष्ट की।

हड़बड़ी में लिया गया निर्णय – दीपक प्रकाश

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कहा कि झारखंड के आदिवासी – मूलवासी के सर्वांगीण विकास के लिए भारतीय जनता पार्टी जनभावना का सम्मान करते हुए एक विधिसम्मत एवं सर्वसम्मत निर्णय की पक्षधर ह । हम ऐसे किसी भी निर्णय के पक्षधर हैं जो कि झारखंड की जनता की हित में हो। स्थानीयता के लिए वर्तमान सरकार द्वारा निर्धारित आधार अपूर्ण है। वर्तमान झारखंड सरकार द्वारा स्थानीय नीति को नियोजन नीति से नहीं जोड़ना भी समझ से परे हैं। ऐसा प्रतीत होता है कि यह निर्णय आनन-फानन में लिया गया है, जो न विधिसम्मत है और न ही सर्वसम्मत है।

प्रदेश कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष एवम सांसद दीपक प्रकाश,नेता विधायक दल एवम पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी,संगठन महामंत्री कर्मवीर सिंह, केंद्रीय राज्य मंत्री श्रीमती अन्नपूर्णा देवी, सांसद सुनील सिंह, पूर्व सांसद रविंद्र कुमार राय,विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा,सांसद समीर उरांव उपस्थित हुए।

वर्चुअल रूप में पूर्व मुख्यमंत्री एवम राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास, केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, प्रदेश के नव नियुक्त प्रभारी लक्ष्मीकांत वाजपेई एवम पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ दिनेशानंद गोस्वामी शामिल हुए।

यह भी पढ़ें: 70 साल बाद भारत की जमीन पर फिर लौट रहा चीता, घर हुआ तैयार, बेताबी से इंतजार

Related posts

ED ने IPS अधिकारी Priya Dubey और उनके पति की संपत्ति को किया अटैच, 8 साल पुराने मामले में की कार्रवाई

Manoj Singh

झारखंड हाईकोर्ट के समक्ष उपस्थित हुए DGP Niraj Sinha, कोर्ट ने दिया जवाब दाखिल करने का निर्देश

Manoj Singh

ट्रेन से सफर करने वालों को रेलवे ने दी अच्छी खबर, दिल खुश हो जाएगा 

Manoj Singh