समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand: राज्यपाल से मिली स्वीकृति, गांव की सरकार बनाने के लिए तिथियों का ऐलान, 14, 19, 24, 27 मई को वोट

Jharkhand: Approval from Governor, announcement of dates to form the government of the village

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस ने राज्य में त्रिस्तरीय पंचयात चुनाव कराने हेतु अपनी स्वीकृति प्रदान की है। इसके साथ ही गांव की सरकार बनाने का लम्बा इंतजार खत्म हो जायेगा। झारखण्ड राज्य अंतर्गत त्रिस्तरीय पंचायत निकायों के ग्राम पंचायत सदस्य, मुखिया, पंचायत समिति सदस्य एवं जिला परिषद सदस्य के निर्वाचन हेतु कुल चार चरणों 14 मई, 19 मई, 24 मई एवं 27 मई, 2022 को चुनाव होंगे। वहीं मतगणना जून में की जाएगी।

बता दें कि झारखंड में यह तीसरा पंचायत चुनाव होगा। इससे पहले 32 वर्षों के लम्बे जद्दोजहद के बाद 2010 में झारखंड में पहला पंचायत चुनाव कराया गया था। जबकि दूसरा पंचायत चुनाव 2015 में कराया गया था। लेकिन कोरोना काल के कारण 2020 में कराये जाने वाले पंचायत चुनाव टलते हुए 2022 में कराया जायेगा। पिछले दिनों झारखंड पंचायत राज्य विभाग द्वारा अधिसूचना जारी कर दी गयी थी। इसके बाद उस पर राज्यपाल रमेश बैस की स्वीकृति की प्रतीक्षा की जा रही थी। राज्यपाल रमेश बैस की स्वीकृति मिलते इन तिथियों का ऐलान कर दिया गया है। किन्तु अभी इन तिथियों के औपचारिक घोषणा के लिए इंतजार करना होगा। क्योंकि अब यह फाइल चुनाव आयोग के पास जायेगी। जिस पर राज्य चुनाव आयोग अपनी सहमति देगा और उसे राज्य सरकार के पास भेजेगा। राज्य सरकार की सहमति मिल जाने के बाद चुनाव आयोग इसकी औपचारिक घोषणा करेगा। फिर इसी के साथ आदर्श आचार संहिता लागू हो जायेगी।

क्या है स्थानीय ग्रामीण स्वशासन?

पंचायती राज व्यवस्था, ग्रामीण भारत की स्थानीय स्वशासन की प्रणाली है। जिस तरह से नगरपालिकाओं तथा उपनगरपालिकाओं के द्वारा शहरी क्षेत्रों का स्वशासन चलता है, उसी प्रकार पंचायती राज संस्थाओं के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों का स्वशासन चलता है। पंचायती राज संस्थाएं तीन हैं, जिसे त्रिस्तरीय पंचायत राज व्यवस्था कहते हैं-

  • ग्राम के स्तर पर ग्राम पंचायत
  • ब्लॉक (तालुका) स्तर पर पंचायत समिति
  • जिला स्तर पर जिला परिषद

इन संस्थाओं का काम ग्राम का आर्थिक विकास करना, सामाजिक न्याय को मजबूत करना तथा राज्य सरकार और केन्द्र सरकार की योजनाओं को लागू करना है। भारत में प्राचीन काल से ही पंचायती राज व्यवस्था आस्तित्व में रही हैं। आधुनिक भारत में प्रथम बार तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू द्वारा राजस्थान के नागौर जिले के बगधरी गांव में 2 अक्टूबर, 1959 को पंचायती राज व्यवस्था लागू की गई।

यह भी पढ़ें: Pakistan: इमरान खान का सत्ता से जाना और जेल जाना तय! नयी सरकार बदला लेने के लिए तैयार!

Related posts

बिहार के बेगूसराय में विधवा से दिनदहाड़े 6 लाख की लूट, उसी के घर में बंधक बनाकर वारदात को दिया अंजाम

Sumeet Roy

पूर्व खेल मंत्री सुदेश महतो ने पत्र लिख CM हेमन्त सोरेन से किया आग्रह-  ‘विधायक निधि के पैसे खेल पर भी खर्च किए जाएं’ 

Manoj Singh

Raj Kundra Arrested: शिल्पा शेट्टी के पति और बिज़नेसमैन राज कुंद्रा को Crime Branch ने किया गिरफ्तार, Porn फिल्में बनाने का है आरोप

Sumeet Roy