समाचार प्लस
Breaking अपराध फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार

पूर्व सांसद आनंद मोहन की पेशी मामले में कार्रवाई, जेलर को किया गया निलंबित

पटना ब्यूरो हेड इस के राजीव की रिपोर्ट

बिहार: आनंद मोहन (Anand Mohan) मामले में बड़ी करवाई. सहरसा जेलर समेत तीन पर गिरी गाज. सहरसा जेलर मृत्युंजय कुमार निलंबित. सहरसा जेल चीफ वार्डन दानी प्रसाद यादव भी सस्पेंड. वार्डन हरिनंदन कुमार भी हुए सस्पेंड. इन सभी पर आनंद मोहन मामले में लापरवाही बरतने का है आरोप.

Anand mohan caseगौरतलब है कि 12 अगस्त को आजीवन कारावास भुगत रहे आनंद मोहन एक पेशी के दौरान पटना पहुंचे थे, तब वह पटना स्थित अपने आवास पाटलिपुत्र और कॉटिल्या नगर स्थित विधायक आवास पर भी पहुंच गए थे. इसके अलावा खगड़िया परिसदन में भी उन्होंने दरबार लगाई थी. इस मामले में इसके पहले भी आनंद मोहन के साथ सहरसा से पटना आए छह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया जा चुका है .

इस मामले की जांच कर रहे मुख्यालय डीएसपी एजाज हाफिज मानी ने बताया कि कोर्ट पेशी के दौरान जाने वाले पीएसआई संतोष कुमार , सिपाही नंबर 123 राजू कुमार गुप्ता , सिपाही नंबर 374 शिव प्रकाश कुमार , सिपाही नंबर 403 दिवेश कुमार , सिपाही नंबर 107 राजू कुमार को निलंबित कर दिया गया है जबकि वाहन चालने वाले सैफ चालक रविंद्र सिंह को भी निलंबित कर दिया गया है। उन्होंने यह भी बताया की पाटलिपुत्र थाना कांड संख्या 84/07 के अभियुक्त आनंद मोहन पिता- स्व. सचिदानंद सिंह, थाना बिहरा, जिला सहरसा कोर्ट पेशी में गए थे।

पेशी के बाद उनके संबंध में कुछ सोशल मीडिया में वायरल हुए समाचार के संबंध में , पुलिस अधीक्षक सहरसा के द्वारा पुलिस उपाधीक्षक ( मुख्यालय) को उक्त समाचार की जांच करने का आदेश दिया गया था। जांच में उक्त अभियुक्त के उपस्थापन में प्रतिनयुक्त सभी सदस्य , प्रथम दृष्टया दोषी पाए गए हैं तथा प्रतिनियुक्त सभी सुरक्षा अधिकारी एवम कर्मियों (6) को निलंबित करने की कार्रवाई की गई है। साथ ही संबंधित के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही प्रारंभ की गई है, जिसके रिपोर्ट के आधार पर आगे कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ें: मछली पकड़ने से मना करने पर 11 वर्षीय बालक की हुई थी पीट-पीटकर हत्या, कोर्ट ने दोषी को दी फांसी की सजा

Related posts

Bharti Singh ने Nora Fatehi को स्टेज पे घसीटा- Video हुआ viral

Sumeet Roy

हत्या की नीयत से समाचार प्लस के पत्रकार बैजनाथ महतो पर हमला, CM ने ट्वीट कर कहा- किसी भी हाल में बख्शे नहीं जायेंगे आरोपी

Manoj Singh

आपराधिक मामले में दिए जाने वाले शपथपत्र की वैधता अब 21 दिनों की, हाईकोर्ट ने बढ़ायी समय सीमा

Manoj Singh