समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

JAC Exam 2023: अब दो नहीं, बल्कि एक ही टर्म में होगी मैट्रिक इंटर परीक्षा, शिक्षा मंत्री ने दिया निर्देश

image source : social media

JAC Exam 2023: झारखंड में अब मैट्रिक और इंटरमीडिएट के साथ-साथ आठवीं, नौवीं और 11वीं की अब एक ही परीक्षा ली जाएंगी। मैट्रिक व इंटर की परीक्षाएं ( JAC 10th 12th Exam 2023 ) ओएमआर शीट और उत्तरपुस्तिका में होगी, जबकि आठवीं, नौवीं व 11वीं की परीक्षाएं ( JAC 8th 9th 11th Exam ) सिर्फ ओएमआर शीट पर होगी। शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो(Jagarnath Mahato) ने विभाग व जैक के अधिकारियों के साथ बैठक कर  उन्होंने कहा कि कोविड के दौरान विशेष परिस्थिति में दो टर्म में परीक्षा लेने का प्रावधान किया गया था, अब दो टर्म में परीक्षा लेने का कोई औचित्य नहीं है. अब परीक्षा एक टर्म में मार्च में ही ली जायेगी.

image source : social media
image source : social media

फरवरी-मार्च से परीक्षा का आयोजन

फरवरी-मार्च से परीक्षा का आयोजन किया जा सकेगा। इस बाबत शिक्षा मंत्री ने शिक्षा सचिव को पत्र लिख कर एक बार में परीक्षा लेने की अधिसूचना जारी करने का निर्देश दे दिया है। शिक्षा सचिव अब झारखंड एकेडमिक काउंसिल को एक बार में ही परीक्षा लेने की अधिसूचना भेजेंगे।

इसलिए लिया गया निर्णय

झारखंड राज्य वित्तरहित शिक्षक संयुक्त संघर्ष मोर्चा ने दो टर्म में परीक्षा लेने का विरोध किया था। इंटर कॉलेज व हाइस्कूल के प्राचार्यों का कहना था कि दो टर्म में परीक्षा लेने से साल में चार से पांच माह परीक्षा लेने व उत्तरपुस्तिका मूल्यांकन में ही बीत जायेगा। ऐसे में पाठ्यक्रम पूरा नहीं हो पायेगा। वहीँ राज्य के सरकारी स्कूलों में अब तक न तो सिलेबस ही पूरा हो सका था और न ही छात्र-छात्राओं की तैयारी ही हुई थी। जैक की ओर से मॉडल प्रश्न पत्र भी जारी नहीं किये गये थे। दो टर्म की परीक्षा से राज्य सरकार को दोहरी खर्च की मार भी झेलनी पड़ती। शिक्षक संगठनों ने भी इस पर अपनी सहमति जतायी थी। इन सभी बिंदुओं पर जैक अध्यक्ष डॉ अनिल कुमार महतो और सचिव महीप कुमार सिंह के साथ अपने आवासीय कार्यालय में समीक्षा करने के बाद शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने आठवीं से 12वीं की दो टर्म की जगह एक बार में परीक्षा लेने का निर्देश जारी कर दिया।

नवंबर से शुरू होनी थी पहले टर्म की परीक्षा

मैट्रिक व इंटरमीडिएट के पहले टर्म की परीक्षा नवंबर में व दूसरे टर्म की परीक्षा मार्च में होनी थी, जबकि आठवीं, नौवीं व 11वीं की ये परीक्षाएं दिसंबर और अप्रैल में होनी थी।

सीबीएसई ने कोरोना काल में 2021 में शुरू किया था ये पैटर्न 

दो टर्म में परीक्षा का पैटर्न सीबीएसई ने कोरोना काल में 2021 में शुरू किया था। अगर एक टर्म की परीक्षा होती है और दूसरे टर्म की परीक्षा किसी कारण से नहीं हो सकती तो एक टर्म के आधार पर रिजल्ट जारी हो जाता। झारखंड समेत कई राज्यों ने इसे एडॉप्ट किया था। 2022 में सीबीएसई समेत अन्य बोर्ड ने इसे वापस ले लिया था।

ये भी पढ़ें : Jharkhand: लालच पड़ गया भारी, 1.14 लाख किसानों को अब नहीं मिलेगा पीएम किसान योजना का लाभ

Related posts

Embarrassing Moment… जब इतनी छोटी ड्रेस में दिखी Swara Bhasker, बार-बार हाथ से ढकती रही, फिर भी….

Manoj Singh

RR Vs RCB: चहल के विकेट लेते ही ख़ुशी से नाचने लगीं Dhanashree, पूरे मैच में रहीं Super Excited

Sumeet Roy

Jharkhand Weather: झारखंड में और बढ़ सकती हैं ठंड, 4 डिग्री तक पहुंच सकता है न्यूनतम तापमान

Sumeet Roy