समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड पूर्वी सिंहभूम फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राजनीति

यही राजनीति है? बयान न दिया तो राजनेता कैसा! जुबानी जंग में फिर फंसे रघुवर दास और सरयू राय

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

‘दो मुख्यमंत्रियों के जेल जाने और तीसरे मुख्यमंत्री के जेल भेजे जाने’ वाले पहले के बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास और राजनीतिक चाणक्य सरयू राय के बीच जुबानी जंग एक बार फिर शुरू हो गयी है। पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में चुटकी लेते हुए कहा कि 2 वर्ष बीत जाने के बाद भी वह इंतजार कर रहे हैं कि वह कब जेल जाएंगे। विधायक सरयू राय ने इसका जवाब भी दे दिया है। उन्होंने कहा कि लालू यादव और मधु कोड़ा के पूछ लें किस इंतजार के बाद बाद जेल जाना होता है। अगर जल्दी है तो अब सरकार पर दबाव बढ़ा देंगे ताकि आप जेल जल्द जाएं।

2019 के झारखंड विधानसभा चुनाव के समय आया था। इसी बयान को लेकर इन दोनों नेताओं में फिर से राजनीति गरमा गयी है। झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास और विधायक सरयू राय के बीच आरोप- प्रत्यारोप का सिलसिला फिर शुरू हो गया है। सरयू राय के पूर्व के बयान पर चुटकी लेने के साथ झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास ने दावा किया कि 5 साल उन्होंने ईमानदारी से शासन किया। ‘बहुत लोग’ बोल रहे हैं कि दो मुख्यमंत्रियों को जेल भेज चुका हूं, अब तीसरे की बारी है। 2 साल से बैठा हूं कि कब मैं जेल जाऊंगा। आज तक इन लोगों को कोई एक दाग नहीं मिल रहा। 1995 से वह शासन कर रहे हैं, लेकिन उन पर कोई एक दाग नहीं लगा।

 

 

वहीं रघुवर दास के बयान पर सरयू राय ने जवाब देते हुए कहा- ‘जेल जाने वाला जब काम करता है तो काम करने के बाद कितने दिनों में जेल जाता है, कितने दिन जेल में रहता है, कितने दिन जमानत पर रहता है, इसके बारे में कोई भ्रम है तो इसका जीता-जागता उदाहरण लालू प्रसाद यादव, मधु कोड़ा, हरिनारायण सिंह, एनोस एक्का हैं। मैंने उन बातों को उठाया, जो करने पर ही जेल जाते हैं। मैंने किताब भी लिख दी है जो दस्तावेज के तौर पर रहे, एक भी बात का मैंने खंडन नहीं किया, जो रास्ता जेल जाने का है। मैंने कहा, जेल भेजने का काम मेरा नहीं है, यह काम है सरकार का। अगर किसी को शौक है तो सरकार को इसे पूरा कर देना चाहिए।

खैर, राजनीतिक कार्यकाल में दाग लगा हो या ना लगा हो, जेल जाना पड़े या ना जाना पड़े। मगर इस जुबानी जंग ने जमशेदपुर सहित राज्य की राजनीतिक गलियारे को गर्म जरूर कर दिया है।

यह भी पढ़ें: झारखंड में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, 2681 नये मामले आये सामने तो 2 की हुई मौत

Related posts

कोरोना महामारी: झारखंड में संक्रमण दर घटी, देशभर में तीसरे स्थान पर

Manoj Singh

Survey: तो क्या घट गयी पीएम मोदी की लोकप्रियता? पीएम की रेस में राहुल और ममता से आगे योगी

Pramod Kumar

‘मन की बात’ में बोले PM Modi- कोरोना के नए वेरिएंट ने दी दस्तक, मिलकर लड़ाई का लें संकल्प

Manoj Singh