समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला: मंत्रमुग्ध करेंगे झारखण्ड के पारम्परिक नृत्य, गीत और संस्कृति, CM हेमंत होंगे शामिल

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला 2022 में गुरुवार को झारखण्ड राज्य दिवस समारोह का आयोजन किया जा रहा है। इस अवसर पर झारखण्ड के पारम्परिक नृत्य, गीत और संस्कृति से लोग रूबरू होंगे। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन शामिल होंगे। यह समारोह सांय पांच बजे नई दिल्ली के प्रगति मैदान स्थित एम्फी थिएटर में आयोजित होगा।

स्वरोजगार सृजन हेतु किये जा रहे कार्यों की झांकी

ट्रेड फेयर में ना सिर्फ झारखण्ड के रेशमी परिधान लोगों के आकर्षण का केन्द्र बने हुए हैं, बल्कि राज्य सरकार द्वारा राज्य में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने एवं ग्रामीण स्तर पर स्वरोजगार सृजन हेतु किये जा रहे कार्यों की झांकी लोगों को आकर्षित कर रही है। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन की सोच के अनुरूप मेले में कृषि, पशुपालन विभाग द्वारा जैविक कृषि का स्टाल, वन विभाग का स्टाल, जेरेडा का स्टाल, मुख्यमंत्री लघु एवं कुटीर उद्यम विकास बोर्ड के स्टाल में प्रदर्शित विभिन्न शिल्पकारों के हस्तनिर्मित लकड़ी, बांस से निर्मित नेम प्लेट, पेन स्टैंड, टी कोस्टर, सर्विस प्लेट, मूर्ति आदि दर्शकों द्वारा बेहद पसंद किया जा रहा है।

जैविक उत्पाद और जैविक खेती कर रहा आकर्षित

झारखण्ड जैविक कृषि प्राधिकार ने स्टाल के माध्यम से जैविक उत्पादों की प्रदर्शनी की है। मेला में आनेवालों को जैविक कृषि से सम्बंधित बुकलेट, फिल्म आदि के माध्यम से जानकारी दी जा रही है। झारखण्ड जैविक कृषि प्राधिकार के डॉ एम. शिवा ने कहा कि वर्तमान में करीब 97000 कृषक ओफाज से जुड़े है और 1 लाख हेक्टेयर भूमि से अधिक जैविक खेती के अंतर्गत है। आने वाले दिनों में 20 लाख हेक्टेयर भूमि में जैविक खेती किया जाना प्रस्तावित है। इसके द्वारा लोगो को विषमुक्त और सुरक्षित खाद्यान्न उपलब्ध कराए जाने का लक्ष्य है। इन्ही उद्देश्य के साथ झारखंड राज्य में जैविक खेती का कार्य किया जा रहा है।

मालूम हो कि 27 नवम्बर तक आयोजित अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला 2022 में झारखण्ड पार्टनर स्टेट के तौर पर शामिल है। मेले में झारखण्ड के स्थानीय बुनकरों, ट्राइबल शिल्पकारों द्वारा प्रदर्शित पारम्परिक आदिवासी जैकेट, शर्ट्स, टॉवल, गमछा, टोपी आदि दर्शकों के द्वारा बहुत पसंद किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: Jharkhand: मुख्यमंत्री हेमन्त ने झारखंड जनजातीय परामर्शदातृ परिषद की तीसरी बैठक में लिए कई महत्वपूर्ण निर्णय

Related posts

Ranchi के Seva Sadan Hospital को तोड़ने के आदेश के बाद बचाने का भी प्रयास शुरू

Sumeet Roy

राष्ट्रीय खेल दिवसः झारखंड की खेल नीति के ग्रह-दोष, आखिर कहां रह जाती है कमी?

Pramod Kumar

Vivek Agnihotri ने किया बड़ा ऐलान, Kashmir Files के बाद अब बनेगी Delhi Files

Manoj Singh