समाचार प्लस
Breaking अंतरराष्ट्रीय देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

International Mountain Day 2021 : आज ही के दिन क्यों मनाया जाता है अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस, जानें महत्व और इतिहास

International Mountain Day

International Mountain Day हर साल 11 दिसंबर को मनाया जाता है. यह दिन जीवन के लिए पहाड़ों के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है. एक रिपोर्ट के अनुसार, पहाड़ दुनिया की कुल आबादी के 15 प्रतिशत के लिए घर हैं और दुनिया की जैव विविधता हॉटस्पॉट के लगभग आधे हिस्से की मेजबानी करते हैं. इसके अलावा, वे आधी मानवता को ताजा पानी भी उपलब्ध कराते हैं.आज पहाड़ों के सामने जलवायु परिवर्तन और कई मुख्य खतरे भी हैं. इसे रोकने के लिए हमें अपने कार्बन फुटप्रिंट को कम करने की दिशा में काम करना चाहिए.

International Mountain Day 2021: Theme

अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस (IMD) 2021 का विषय ‘सतत पर्वतीय पर्यटन’ (Sustainable Mountain Tourism) है.संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, पहाड़ों में स्थायी पर्यटन प्राकृतिक, सांस्कृतिक और आध्यात्मिक विरासत को संरक्षित करने, स्थानीय शिल्प और उच्च मूल्य वाले उत्पादों को बढ़ावा देने और कई पारंपरिक प्रथाओं का जश्न मनाने का एक तरीका है.

International Mountain Day : History

International Mountain Day के इतिहास का पता वर्ष 1992 से लगाया जा सकता है, जब पर्यावरण और विकास सम्मेलन की कार्य योजना एजेंडा 21 के हिस्से के रूप में दस्तावेज़ “फ्रैगाइल इकोसिस्टम: सस्टेनेबल माउंटेन डेवलपमेंट” (अध्याय 13 कहा जाता है) को अपनाया गया था.संयुक्त राष्ट्र ने पहली बार वर्ष 2002 को संयुक्त राष्ट्र अंतर्राष्ट्रीय पर्वत वर्ष के रूप में घोषित किया. इसके बाद वर्ष 2003 में पहला International Mountain Day मनाया गया.

पहाड़ पृथ्‍वी पर पाए जाने वाले सभी जानवरों और पौधों की एक चौथाई आबादी का घर हैं. ये दुनिया की आधी आबादी को मीठे पानी के साथ-साथ भोजन भी प्रदान करते हैं, इसलिए प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण के लिए जागरूकता फैलाने के लिए यह दिन मनाया जाता है. पहाड़ दुनिया की छह सबसे महत्वपूर्ण खाद्य फसलों का घर हैं. यह पारिस्थितिकी तंत्र में संतुलन बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. पृथ्‍वी के जलवायु सुधार के लिए पर्वतों का संरक्षण बेहद जरूरी है.

यह भी पढ़ें – SBI Customers Alert: शनिवार को बंद रहेंगी Internet Banking, YONO, YONO Lite, UPI जैसी सुविधाएं

 

 

Related posts

Birthday Special: हरफनमौला थे Kishore Kumar, घर के बाहर साइन बोर्ड पर लिखवाया था ‘Beware of Kishore’

Sumeet Roy

Jharkhand-Bihar को रेलवे का New Year Gift! बाबा की नगरी और जमुई के जमालपुर को जोड़ेगी नयी ट्रेन

Pramod Kumar

Ram Vilas Paswan: रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को अलॉट हुआ रामविलास पासवान का सरकारी बंगला

Sumeet Roy