समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

International Girl Child Day 2021: अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस आज, जानें इतिहास और उद्देश्य

International Girl Child Day 2021: अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस आज, जानें इतिहास और उद्देश्य

न्यूज़ डेस्क/ समाचार प्लस झारखंड -बिहार
हर साल 11 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है. अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य महिलाओं के सामने आने वाली चुनौतियों और उनके अधिकारों के संरक्षण के बारे में जागरूकता पैदा करना है. यह दिन इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह लिंग-आधारित चुनौतियों को समाप्त करता है. जिसका सामना दुनिया भर में लड़कियां करती हैं, जिसमें बाल विवाह, उनके प्रति भेदभाव और हिंसा शामिल है.

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस का इतिहास

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बालिका दिवस मनाने की पहल एक गैर-सरकारी संगठन ‘प्लान इंटरनेशनल’ प्रोजेक्ट के रूप में की गई. इस संगठन ने “क्योंकि में एक लड़की हूं ” नाम से एक कैंपेन भी शुरू किया. इसके बाद इस अभियान को इंटरनेशनल लेवल पर विस्तार करने के लिए कनाडा सरकार से संपर्क किया. फिर कनाडा सरकार ने 55वें आम सभा में इस प्रस्ताव को रखा. आखिरकार संयुक्त राष्ट्र ने 19 दिसंबर, 2011 को इस प्रस्ताव को पारित किया और इसके लिए 11 अक्टूबर का दिन चुना. इस प्रकार पहला अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस 11 अक्टूबर, 2012 को मनाया गया और उस समय इसका थीम था “बाल विवाह को समाप्त करना”.

साल 2012 से हुई अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस शुरुआत

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस की शुरुआत साल 2012 से हुई थी. इसका मुख्य उद्देश्य महिला सशक्तिकरण और उन्हें उनके अधिकार प्रदान करने में मदद करना है. भारत सरकार भी इस दिशा में बढ़ चढ़कर काम कर रही है. लड़कियों के लिए कई योजनाएं भी लागू की जा रही हैं. लड़कियों के प्रति होने वाली लैंगिक असामानताओं को खत्म करने के बारे में जागरूकता फैलाने में भी इसकी मदद ली जा रही है. इस प्रकार पहला अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस 11 अक्टूबर, 2012 को मनाया गया और उस समय इसका थीम- बाल विवाह को समाप्त करना था.

भारत सरकार ने शुरू की कई योजनाएं

बता दें कि भारत सरकार ने भी बालिकाओं को सशक्त बनाने के लिए कई प्रकार की योजनाओं को लागू किया है जिसके तहत बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ एक उल्लेखनीय योजना है. इसके अलावा केंद्र और राज्य सरकार भी इसे लेकर कई अन्य महत्वपूर्ण योजनाएं शुरू कर रही है. अगर हम भारत की बात करें तो भारत में हर साल राष्ट्रीय बालिका दिवस 24 जनवरी को मनाया जाता है.

थीम

इस साल डिजिटल पीढ़ी, हमारी पीढ़ी (Digital Generation. Our generation) थीम के साथ यह दिन मनाया जा रहा है.

ये भी पढ़ें : ‘MS Dhoni नाम नहीं इमोशन है’ मैच फिनिश करते वक्त रोती हुई बच्ची की फोटो वायरल

 

Related posts

इंतजार खत्म! MG Astor ‘AI’ और एडवांस फीचर्स के साथ हुई लॉन्च, बस इतनी है कीमत

Manoj Singh

NEET यूजी परीक्षा 2021 के पैटर्न में बदलाव, अब 200 में से सिर्फ इतने ही प्रश्नों को करना होगा हल

Manoj Singh

हादसों से सहमा बिहार: पटना में एक की हत्या, सासाराम में युवक को मारा चाकू, औरंगाबाद में वाहन ने कुचला

Pramod Kumar

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.