समाचार प्लस
Breaking अंतरराष्ट्रीय देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने 22 YouTube Channels को किया ब्लॉक, 4 पाकिस्तान से जुड़े

YouTube Channels

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय (Ministry of Information and Broadcasting) ने भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश नीति और सार्वजनिक व्यवस्था से संबंधित दुष्प्रचार फैलाने के लिए 22 यूट्यूब चैनलों (YouTube channels) को ब्लॉक कर दिया है. आईटी नियम, 2021 के तहत पहली बार 18 भारतीय YouTube समाचार चैनल ब्लॉक किए गए. चार पाकिस्तान से संचालित यूट्यूब समाचार चैनल को भी बंद कर दिया गया है. यूट्यूब चैनलों ने दर्शकों को गुमराह करने के लिए टीवी समाचार चैनलों के लोगो और झूठे थंबनेल का इस्तेमाल किया. इसके अलावा तीन ट्विटर अकाउंट, एक ​​फेसबुक अकाउंट और एक न्यूज वेबसाइट को भी ब्लॉक कर दिया गया है.

पाकिस्तान के चार यूट्यूब न्यूज चैनलों को भी बंद किया गया है

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि नए आईटी नियम 2021 (IT Rules, 2021) के तहत 18 भारतीय यूट्यूब न्यूज चैनलों को ब्लॉक किया गया है. जबकि पाकिस्तान के चार यूट्यूब न्यूज चैनलों को भी बंद किया गया है. इन पर राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेशों से रिश्ते और सार्वजनिक व्यवस्था के बारे में दुष्प्रचार फैलाने का आरोप है, जिसके तहत ये कार्रवाई की गई है.

“फेक न्यूज फैलाई जा रही थी’

सरकार की ओर से एक बयान में कहा गया है कि, भारतीय सेनाओं, जम्मू-कश्मीर और कई अन्य मसलों के बारे में फेक न्यूज फैलाई जा रही थी. इसको संज्ञान में लिया गया है. भारत विरोधी ऐसी सामग्री को यूट्यूब और अन्य सोशल मीडिया अकाउंट पर फैलाने के खिलाफ कार्रवाई पहले की तरह आगे भी जारी रहेगी.इसमें पाकिस्तान से सुनियोजित तरीके से किया जा रहा दुष्प्रचार शामिल है.

“भारत के दूसरे देशों के साथ रिश्तों पर असर पड़ने का खतरा था”

आईबी मंत्रालय के अनुसार, यूक्रेन में चल रही मौजूदा स्थिति को लेकर बहुत सारी गलत बातें भारत स्थित कुछ यूट्यूब चैनलों के जरिये फैलाई जा रही थी. इससे भारत के दूसरे देशों के साथ रिश्तों पर असर पड़ने का खतरा था. लिहाजा यह कार्रवाई की गई है. उल्लेखनीय है कि नए आईटी नियमों के तहत सरकार को सोशल मीडिया पर गलत जानकारी फैलाए जाने को लेकर कार्रवाई करने के विशेषाधिकार दिए गए हैं. समाचार चैनलों को ऐसे दुष्प्रचार से जुड़ी शिकायतों पर कार्रवाई के लिए शिकायत निवारण अधिकारी जैसे तमाम इंतजाम भी करने को कहा गया है. फेक न्यूज को फैलने से रोकने के लिए भी विशेष निगरानी तंत्र बनाया गया है.

ये भी पढ़ें : एक ही त्‍योहार नहीं पड़ेगा दो दिन, केंद्र सरकार ने उठाया महत्‍वपूर्ण कदम! जानें मामला

 

Related posts

मोदी सरकार के ‘आरक्षण बिल की चाल’ में विपक्ष को चित करने की कितनी धार

Pramod Kumar

सिवान में पकड़ा गया Tej Pratap और Tejashwi का करीबी शराब माफिया Ramnarayan Chaudhary, ये है मामला

Sumeet Roy

World Food Day: आज 7 अरब को खिलाने के लिए नहीं है अनाज, 9 अरब का कैसे भरेंगे पेट?

Pramod Kumar