समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

India GDP Growth News: इकोनॉमी पर ओमिक्रॉन का असर, वित्त वर्ष 2021-22 में 8.7% रही भारत की GDP

image source : social media

India GDP Growth News: देश में जीडीपी (GDP) की रफ्तार कितनी रही, इसके आंकड़ा मंगलवार को जारी कर दिए गए। वित्त वर्ष 2021-22 में भारत की जीडीपी दर 8.7 प्रतिशत रही जबकि चौथी तिमाही में विकास दर 4 प्रतिशत पर रही। सांख्यिकी मंत्रालय द्वारा मंगलवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, जनवरी-मार्च की अवधि में जीडीपी (GDP) में 4.1 फीसदी की वृद्धि हुई। बता दें कि अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के दौरान भारत की अर्थव्यवस्था में 5.4 फीसदी की वृद्धि हुई थी।

पूरे वित्त वर्ष 2021-22 की बात करें तो ग्रोथ 8.7 फीसदी रही। ये आंकड़े कोविड -19 की तीसरी लहर और वैश्विक कीमतों में वृद्धि के कारण 28 फरवरी को जारी 8.9 फीसदी के आधिकारिक अनुमान से कम हैं।

ओमिक्रॉन और रूस-यूक्रेन के बीच छिड़ी जंग से आई सुस्ती 

ओमिक्रॉन और रूस-यूक्रेन के बीच छिड़ी जंग की वजह से इस तिमाही में ग्रोथ रेट धीमी हो गई है। आपको बता दें कि जनवरी माह ओमिक्रॉन की वजह से प्रभावित था। इस माह में देश के अलग-अलग हिस्सों में लॉकडाउन जैसे हालात थे। वहीं फरवरी और मार्च माह में यूक्रेन-रूस जंग की वजह से भारत समेत ग्लोबली इकोनॉमी पर असर पड़ा है। इस जंग के बाद बदले माहौल में खपत से लेकर आपूर्ति तक प्रभावित हुआ है। इसका स्वाभाविक असर मार्च तिमाही के आंकड़ों पर दिखा है।

अप्रैल माह में कोर सेक्टर में ग्रोथ 8.4 फीसदी रही

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार अप्रैल माह में कोर सेक्टर में ग्रोथ 8.4 फीसदी रही। अप्रैल 2022 में कोयला, बिजली, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, सीमेंट और प्राकृतिक गैस उद्योगों का उत्पादन पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में बढ़ा है। आपको बता दें कि कोर सेक्टर में आठ प्रमुख क्षेत्र – कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली हैं।

आंकड़ों से समझें

हालांकि, जनवरी-मार्च की अवधि में वृद्धि 2021-22 की पिछली अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में 5.4 प्रतिशत विस्तार की तुलना में धीमी थी. राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, 2020-21 की इसी जनवरी-मार्च अवधि में जीडीपी में 2.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी. आंकड़ों में फार्म सेक्टर में शानदार ग्रोथ देखी गई. फार्म सेक्टर 2.8 प्रतिशत से बढ़कर 4.1 प्रतिशत तक पहुंच गया. जबकि माइनिंग सेक्टर में ग्रोथ -3.9 प्रतिशत से बढ़कर 6.7 प्रतिशत हो गई. एनएसओ ने अपने दूसरे शुरुआती अनुमान में 2021-22 के दौरान 8.9 प्रतिशत की जीडीपी वृद्धि का अनुमान लगाया था. चीन ने साल 2022 के पहले तीन महीनों में 4.8 फीसदी की आर्थिक वृद्धि दर्ज की थी.

ये भी पढ़ें : Rohan Bopanna ने फ्रेंच ओपन में रचा इतिहास, पहली बार फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचे

Related posts

हर खाताधारक के ल‍िए बड़ी खबर, बदल गए Bank में पैसा जमा करने और न‍िकालने के न‍ियम

Manoj Singh

सिवान में पकड़ा गया Tej Pratap और Tejashwi का करीबी शराब माफिया Ramnarayan Chaudhary, ये है मामला

Sumeet Roy

RBI की कार्यवाही, काबू में आयेगी महंगाई! रेपो रेट को बढ़ाकर किया 4.90 फीसदी, शेयर बाजार पर भी दिखा असर

Pramod Kumar