समाचार प्लस
Breaking अंतरराष्ट्रीय देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

IMF ने चेताया- महंगाई से और सात करोड़ लोग आएंगे गरीबी की चपेट में, साल 2023 भी होगा चुनौतीपूर्ण  

image source : social media

IMF: कोरोना संक्रमण का दौर और रूस यूक्रेन संकट के बीतने के बाद भी जो आर्थिक  संकट के हालात पैदा हुए थे, उसपर शीघ्र नियंत्रण पाना अब भी मुश्किल दिख रहा है। महंगाई की मार ने मंदी का जोखिम बढ़ा दिया है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) का कहना है कि मुसीबतें अभी और बढ़ने वाली हैं और अगले साल स्थितियां और बिगड़ सकती हैं।

image source : social media
image source : social media

महंगाई की ऊंची दर से जल्द छुटकारा नहीं- IMF प्रमुख 

आईएमएफ की प्रमुख क्रिस्टिलीना जिर्योजिएवा ने अपने एक ब्लॉग में कहा है कि 2022 मुश्किल होगा और 2023 उससे भी मुश्किल होगा। उनके अनुसार  महंगाई की ऊंची दर से जल्द छुटकारा नहीं मिलेगा और इसकी वजह से दुनिया के गरीब देशों में सात करोड़ और लोग बेहद गरीबी की चपेट में आ जाएंगे।

गरीबों के लिए आ सकती है बुरी स्थिति  

ब्लॉग में कहा गया है कि बढ़ती महंगाई के कारण कुछ देशों के द्वारा खाद्यान्न पर लगे गए प्रतिबंध से खाने पीने की समस्या और बढ़ेगी। अधिकांश गरीब देश पांच प्रतिशत से ज्यादा की महंगाई दर का सामना कर रहे हैं और आने वाले समय में इनकी स्थिति और बुरी हो सकती है, इससे कई देशों में समाज के स्तर पर अस्थिरता आ सकती है।

image source : social media
image source : social media

विकासशील देशों में महंगाई दर 8.7 प्रतिशत रहने का अनुमान

आईएमएफ (IMF) के अनुमानों के अनुसार विकसित देशों में साल 2022 के दौरान महंगाई दर 5.7 प्रतिशत रह सकती है। वहीं विकासशील देशों में महंगाई दर 8.7 प्रतिशत तक रहने के अनुमान हैं।

ये भी पढ़ें : Presidential Election: मतों की गणना के कुछ घंटों में ही मिल जायेंगे परिणाम

Related posts

35 साल बाद रांची से लखनऊ के लिए विमान सेवा, 1 अगस्त से Indigo भरेगा उड़ान

Sumeet Roy

Dhaakad Trailer: Kangana Ranaut की फिल्म ‘धाकड़’ का ट्रेलर रिलीज, एक्शन में छा गईं एजेंट अग्नि

Manoj Singh

Bihar: पटना पुलिस ने किया हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का खुलासा, रातभर चली छापेमारी

Pramod Kumar