समाचार प्लस
Breaking जामताड़ा फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

शेल कंपनी- खनन लीज मामले में अगली सुनवाई 5 जुलाई को, HC ने कहा- कई बार सुना है पंकज और पिंटू का नाम

Hemant soren mining lease case heard in high court

Ranchi: झारखंड हाईकोर्ट में शेल कंपनी और माइनिंग लीज मामले में सुनवाई हुई. हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की अदालत में सुनवाई हुई. सुनवाई के दौरान राजीव कुमार ने योगेन्द्र तिवारी के नाम पर सोहराय भवन, चान्हो में कल्पना मुर्मु सोरेन के नाम पर जमीन का जिक्र किया.

शेल कंपनी मामले की सुनवाई के दौरान किसी अन्य याचिका का जिक्र करने पर अधिवक्ता राजीव कुमार ने कोर्ट से माफी मांगी.

राजीव कुमार ने कहा कि गलत लिखा गया. जिस पर एजी ने कहा कि आपसे सही लिखाता ही नहीं है. राजीव कुमार ने बताया कि डीसी गढ़वा ने अपनी सास के नाम पर माइनिंग लीज ली थी, हालांकि बाद में उसे वापस ले लिया गया था. इस मामले में कार्रवाई नहीं हुई थी.

राजीव कुमार ने कहा कि बसंत सोरेन के करीबी नागरे का संबंध अबू बकर से है. जिसपर चीफ जस्टिस ने कहा कि बिना सबूत के ऐसा आप कैसे कह सकते हैं.

हेमंत सोरेन की तरफ से पक्ष रख रही वरीय अधिवक्ता मीनाक्षी अरोड़ा ने कोर्ट में कहा कि यह मामला आयोग में उठ चुका है.

 

इसे भी पढें: UPI Payments without Internet: बिना इंटरनेट के भी किया जा सकता है UPI पेमेंट, जानिए क्या है इसका पूरा तरीका

Hemant soren mining lease

Related posts

Navratri: काल से भी भक्तों की रक्षा करती हैं मां कालरात्रि

Pramod Kumar

बिहार के सिवान में खुलेआम सड़क पर बंदूक और धारधार हथियार लहराने का Video हुआ Viral

Sumeet Roy

Ukraine Crisis: युद्ध के 12वें दिन पीएम मोदी ने जेलेंस्की से की बात, भारतीयों को निकालने समेत कई मुद्दों पर चर्चा

Pramod Kumar