समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार

पटना पुलिस के खिलाफ क्रिमिनल रिट मामले में HC में सुनवाई, कोर्ट ने जाहिर की कड़ी नाराजगी

पटना पुलिस के खिलाफ क्रिमिनल रिट मामले में HC में सुनवाई

न्यूज़ डेस्क/ समाचार प्लस झारखंड- बिहार

झारखंड हाईकोर्ट के अधिवक्ता रजनीश वर्धन की पत्नी के द्वारा दायर हैबियस कॉर्पस (Habeas Corpus) पर झारखंड हाई कोर्ट (HC) में सुनवाई हुई. सुनवाई के दौरान पटना एसएसपी एवं दानापुर के एसपी एवं एसपी वर्चुअल माध्यम से अदालत के समक्ष मौजूद हुए. झारखंड सरकार की ओर से अपर महाधिवक्ता आशुतोष आनंद एवं बिहार सरकार की ओर से अधिवक्ता दिवाकर उपाध्याय ने अदालत के समक्ष पक्ष रखा.सभी पक्षों को सुनने के बाद न्यायालय ने इस मामले की अगली सुनवाई के लिए 25 नवंबर की तिथि निर्धारित की है.

“ऐसा लगता है कि अधिवक्ता की किडनैपिंग हुई है”

अगली सुनवाई तक झारखंड सरकार और बिहार सरकार को एफिडेविट के माध्यम से जवाब दाखिल करने का निर्देश झारखंड हाई कोर्ट ने दिया है. सुनवाई के दौरान अदालत ने अधिवक्ता की गिरफ्तारी के दौरान किसी भी तरह की प्रक्रिया का पालन नहीं किए जाने पर कड़ी नाराजगी जाहिर की. अदालत ने मौखिक टिप्पणी करते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि अधिवक्ता की किडनैपिंग हुई है.

क्या है मामला

सोमवार को झारखंड हाईकोर्ट के अधिवक्ता रजनीश वर्धन को पटना पुलिस ने बिना किसी जानकारी के अपने साथ रांची से ले गयी थी.अधिवक्ता रांची के सुखदेव नगर थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं. इसकी जानकारी झारखंड हाईकोर्ट एडवोकेट एसोसिएशन के महासचिव नवीन कुमार ने दी थी. घटना के बाद अधिवक्ता की पत्नी ने झारखंड हाईकोर्ट में  हैबियस कॉर्पस (Habeas Corpus) दायर किया था. अधिवक्ता नवीन कुमार ने इस मामले की जल्द सुनवाई का आग्रह कोर्ट से किया था.

ये भी पढ़ें :Chhath In Birsa Munda Central Jail : बंदियों के बीच भी छठ महापर्व की धूम, 10 बंदी कर रहे व्रत

Related posts

अल्ताफ हत्याकांड: मुख्य अभियुक्त अली ने रांची सिविल कोर्ट में किया सरेंडर

Pramod Kumar

Electricity Bill जमा करना हुआ और भी आसान, Meter Reader को कर सकेंगे Payment

Nidhi Sinha

दुल्हन ने मेहमानों के सामने उड़ाया धुंआ, Viral हुआ VIDEO

Sumeet Roy

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.