समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

तिरंगा भी अब भाजपा का हो गया है? तिरंगा रैली में शामिल नहीं होकर विपक्ष ने दिखायी गयी बेशर्मी तो यही कहती है!

Has the tricolor also now belonged to the BJP? The opposition showed shamelessness by not attending the rally

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

संस्कृति मंत्रालय ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बुधवार को सांसदों ने तिरंगा बाइक रैली निकाली थी। इस रैली में सभी सांसदों को शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया था। भाजपा सांसदों ने पूरे जोश-खरोश के साथ भाग लिया, लेकिन इस रैली से विपक्ष नदारद था। विपक्ष से बड़ा सवाल यह है कि आखिर तिरंगा भाजपा का कैसे हो गया? तिरंगा तो पूरे देश का है, यह वही तिरंगा है जिसकी आन-बान-शान के लिए अनगिनत देशभक्तों ने अपने प्राणों की आहुति दे थी। देश की आजादी की लड़ाई में बहा खून किसी एक धर्म-जाति का नही थी, यह पूरे हिन्दुस्तान का खून था, लेकिन आज की राजनीति देशभक्ति को भी रंगों में बांटने पर तुली है।

आयोजन संस्कृति मंत्रालय की ओर से आयोजित तिरंगा रैली लाल किले से लेकर विजय चौक तक निकाली गई थी। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने लाल किले से इस रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। रैली में तो भाजपा के सांसद और मंत्री जोश में, लेकिन सियासत के मारे विपक्षी को ना जाने किस बात का भय था कि उन्होंने तिरंगे का सम्मान करना भी अपनी शान के खिलाफ समझा। इसको लेकर सतारूढ़ भाजपा ने विपक्ष को आड़े हाथों लिया है। उसका कहना है कि यह किसी पार्टी विशेष का आयोजन नहीं था, इसका आयोजन संस्कृति मंत्रालय ने किया था। सभी सांसदों से इस तिरंगा रैली में शामिल में होने की अपील भी की गई थी, मगर विपक्ष इसे भाजपा की रैली मानकर इसमें शामिल नहीं हुआ।

यह भी पढ़ें: Vice President Election: हेमंत सोरेन ने मार्गरेट अल्वा, तो मायावती ने दिया जगदीप धनखड़ को समर्थन, आखिर क्यों?

Related posts

पुलवामा में सुरक्षाबल और आतंकियों के बीच मुठभेड़, 3 आतंकी ढेर

Annu Mahli

CUJ Recruitment Scam: CUJ में नियुक्ति घोटाले की जांच शुरू, 5 सदस्यीय टीम रांची पहुंची

Manoj Singh

Jharkhand: जज उत्तम आनंद की हत्या की बरसी पर आया फैसला, लखन वर्मा और राहुल वर्मा दोषी करार, 6 अगस्त को सजा

Pramod Kumar