समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

‘हमारी सरकार’ ईडी के द्वार, भ्रष्टाचार की सीढ़ी सीएम हेमंत को ले आयी ईडी दरबार!

'Our government' at ED's door, the ladder of corruption brought CM Hemant to ED's court

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन हर मंच पर झारखंड के विकास की गंगा बहने के दावे करते हैं। लेकिन झारखंड के नेताओं, अधिकारियों, करीबियों पर ED, CBI, IT  के लगातार पड़ रहे छापे, गिरफ्तारियां और खुलासे से जनता कन्फ्यूज है कि आखिर सच क्या है। सच वह है जो हेमंत सोरेन कह रहे हैं, या वह जो जांच एजेंसियां सामने ला रही हैं। जांच एजेंसियों की कार्रवाई से तो यही लग रहा है कि झारखंड में भ्रष्टाचार चरम पर है। नेता से लेकर अधिकारी आकंठ भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं। लेकिन अब यह आंच खुद झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन तक पहुंच गयी है।  मनरेगा घोटाले आईएएस पूजा सिंघल और उनके सीए सुमन कुमार पर शिकंजे से शुरू हुआ सिलसिला मुख्यमंत्री विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा, प्रेम प्रकाश,  प्रदीप यादव तथा कई अन्य लोगों के बाद अब ईडी मुख्यमंत्री हेमंत तक पहुंच गयी है। पिछले छह महीनों में जांच एजेंसियों जितनी भी कार्रवाई की है, जितनी भी गिरफ्तारियां हुई हैं और गिरफ्तार लोगों से जो साक्ष्य जुटाये हैं, उनके आधार पर ईडी ने मुख्यमंत्री हेमंत को पूछताछ के लिए ईडी कार्यालय बुलाया है।

मुख्यमंत्री सीएम तक इस तरह पहुंची जांच की आंच

इस प्रकरण का मजमून यही है कि झारखंड में हुए 1000 करोड़ से ज्यादा के अवैध खनन मामले में ईडी जांच कर रही है। इसी जांच के दायरे में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी आ गये हैं। जांच का यह दायरा विधायकों, अधिकारियों और करीबियों से होता हुआ उन पर इस तरह पहुंचा है-

6 मई 2022- 2009-10 के दौरान हुए मनरेगा घोटाला में आईएएस पूजा सिंघल के घर समेत झारखंड, बंगाल, हरियाणा, राजस्थान में ईडी की छापेमारी। छापेमारी में 19.41 करोड़ रुपये बरामद। पूजा सिंघल और सुमन कुमार अभी जेल में हैं।

19 जुलाई 2022- बरहेट विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा तक पहुंची ईडी। मनी लॉन्ड्रिंग में पंकज मिश्रा की घंटों पूछताछ के बाद लम्बी पूछताछ। इसके बाद ईडी के रडार पर पंकज के कई करीबी। पंकज मिश्रा के घर से एक लिफाफा मिला था, जिसमें मुख्यमंत्री हेमंत के बैंक खाते से जुड़ा चेक बुक मिला था, जिसमें दो चेक बुक पर मुख्यमंत्री के हस्ताक्षर मौजूद थे।

25 अगस्त 2022- ईडी के शिकंजे में फंसी एक और बड़ी मछली। बड़ी मशक्कत के बाद प्रेम प्रकाश ईडी के जाल में फंसा। ईडी की छापेमारी प्रेम प्रकाश के घर से दो एके 47 बरामद हुए। यह एके-47 मुख्यमंत्री की सुरक्षा में लगे सुरक्षाकर्मियों के थे। ईडी के लिए यह एक बड़ा सुबूत बना, मुख्यमंत्री से पूछताछ करने के लिए।  इससे पूर्व मनरेगा घोटोले में संताल के कई डीएमओ से ईडी की पूछताछ भी हुई।

1 नवंबर 2022- अवैध खनन से जुड़े मामले में ईडी ने सीएम हेमंत को समन भेजा। सीएम हेमंत ने अपने व्यस्त कार्यक्रम का हवाला देते हुए ईडी से तीन हफ्ते का समय मांगा। सीएम को समन के बाद ही राज्य में सियासी सरगर्मी बढ़ी है।

4 नवंबर 2022- इस बीच आयकर विभाग ने कांग्रेस के बेरमो विधायक अनूप सिंह और पोड़ैयाहाट से विधायक प्रदीप यादव के ठिकानों पर छापेमारी की। आयकर विभाग ने इस दौरान संपत्ति से जुड़े कई महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किए।

4 नवंबर को ही रांची के न्यूक्लियस मॉल के मालिक व्यवसायी विष्णु अग्रवाल के कई ठिकानों पर भी ईडी ने दबिश दी। कार्रवाई 5 नवंबर को भी जारी रही। विधायकों और व्यवसायी के यहां से भी कई दस्तावेज किये गये।

यह भी पढ़ें: Jharkhand: जमशेदपुर में चल रही थी क्लास, अचानक गिरने लगी ट्रेनिंग सेंटर की बिल्डिंग, देखिये फिर क्या हुआ?

Related posts

रांची में JMM सुप्रीमो शिबू सोरेन के आवास के सामने दिनदहाड़े चली गोली, कालू लामा नामक शख्स की मौत

Sumeet Roy

MLC ELECTION: राजद ने एमएलसी चुनाव के लिए तीन प्रत्याशियों के नाम पर लगाई मुहर, लालू और तेजस्वी ने की घोषणा

Sumeet Roy

एयरपोर्ट पर ही ये स्टार कपल करने लगा बेडरूम वाली हरकत, लोगों ने खूब दी गालियां

Manoj Singh