समाचार प्लस
Breaking अंतरराष्ट्रीय फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

South Korea : जिस Halloween Party के दौरान चारों तरफ मच गई चीख-पुकार, सड़क पर बिछ गई लाशें, जानें क्या है उस फेस्टिवल को मनाने के पीछे की कहानी

image source : social media

दक्षिण कोरियो की राजधानी सियोल के इटावन जिले में देर रात हुई हैलोवीन समारोह (Halloween Party) में पार्टी में शामिल लोगों की भारी भीड़ में मची भगदड़ में कम से कम 151 लोगों की मौत हो गई, जबकि 150 अन्य घायल हो गए. दक्षिण कोरिया (South Korea) के राष्ट्रपति ने मौके पर पहुंचकर हालात का जायजा लेने के बाद घटनाक्रम की जांच का आदेश देते हुए दो दिन के राष्ट्रीय शोक का ऐलान किया है. इमरजेंसी सर्विस के अफसर इस हादसे की खबर मिलते ही लगातार काम कर रहे हैं. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, दुर्घटना शनिवार शाम को प्रसिद्ध नाइटलाइफ जिले में हैमिल्टन होटल के पास एक संकरी ढलान वाली गली में हुई, जब वहां पार्टी करने वालों की भारी भीड़ उमड़ी थी.

लगभग 50 लोगों को हार्ट अटैक आया

न्यूज एजेंसी के मुताबिक दक्षिण कोरियाई अधिकारियों ने बताया कि राजधानी सियोल में हेलोवीन फेस्टिवल (Halloween Party) के दौरान एक संकरी सड़क पर बड़ी संख्या में भीड़ द्वारा कुचले जाने से सैकड़ों लोग घायल हो गए और कई लोगों के मारे जाने की आशंका है. नेशनल फायर एजेंसी के एक अधिकारी चोई चेओन-सिक के मुताबिक शनिवार की रात इटावन लेजर जिले में भीड़ बढ़ने के कारण लगभग 82 लोग घायल हो गए और लगभग 50 लोगों को हार्ट अटैक आया, जिनका इलाज किया जा रहा है.

image source : social media
image source : social media

कई लोगों की कुचलकर मौत

ऐसा माना जा रहा है कि सियोल में हैमिल्टन होटल के पास एक संकरी गली में एक बड़ी भीड़ के कारण कई लोगों की कुचलकर मौत हो गई. सियोल में सभी उपलब्ध कर्मियों सहित देश भर से 400 से अधिक आपातकालीन कर्मचारी और 140 वाहन घायलों के इलाज के लिए सड़कों पर तैनात किए गए हैं.

ऐसे मनाते हैं लोग

हैलोवीन पश्चिमी देशों में मनाया जाने वाले खास त्योहार है। इस दिन लोग डरावने कपड़े पहनते हैं औऱ लोगों के घर जाकर कैंडी उपहार में लेते है। जिसे ट्रिक या ट्रीट करते हैं। इरिश लोक कथाओं के अनुसार हेलोवीन पर जैक ओ-लैंटर्न बनाने का रिवाज है। लोग खोखले कद्दू में आंख, नाक और मुंह बनाकर अंदर मोमबत्ती रखते हैं। इसके बाद इसे जमा कर दफना दिया जाता है।

image source : social media
image source : social media

हैलोवीन डे के दिन करते हैं पार्टी 

कई जगह लोग हैलोवीन डे के दिन पार्टी करते हैं औऱ कई तरह के खेल खेलते हैं। इस दिन सबसे ज्यादा खेले जाना वाला गेम डंकिंग या एप्पल बोबिंग है जिसे स्कॉटलैंड में डूंकिंग कहा जाता है। इसमें सेब में एक टब या पानी के बड़े बेसिन में तैरते है और फिर प्रतिभागियों को अपने दांतों से इसे निकालना होता है।

सबसे पहले आयरलैंड और स्‍कॉटलैंड से हुई थी शुरुआत 

हैलोवीन की शुरुआत सबसे पहले आयरलैंड और स्‍कॉटलैंड से हुई थी. ईसाई समुदाय के लोगों में हैलोवीन डे को लेकर मान्‍यता है कि भूतों का गेटअप करने से पूर्वजों की आत्‍माओं को शांति मिलती है. ईसाई समुदाय में हैलोवीन डे हर साल अक्टूबर माह के आखिरी दिन मनाया जाता है या फिर 31 अक्‍टूबर को सेल्टिक कैंलेंडर का आखिरी दिन माना जाता है. इसी दिन हैलोवीन फेस्टिवल मनाया जाता है.

पूर्वजों की याद में फेस्टिवल मनाते हैं अमेरिकी देश 

अमेरिकी देशों में ये उत्सव पूर्वजों की याद में मनाया जाता है. इस साल हैलोवीन डे 31 अक्टूबर 2022 यानी सोमवार को मनाया जाएगा. हैलोवीन का इतिहास लगभग 2000 या उससे भी अधिक साल पुराना है. हजारों साल पहले पूरे उत्तरीय यूरोप के देशों में 1 नवंबर को प्रसिद्ध धार्मिक त्यौहार ‘आल सेट्स डे’ के नाम से मनाया जाता था. जो अब हैलोवीन ईव के नाम से जाना जाता है.

image source : social media
image source : social media

कैसे हुई थी हैलोवीन की शुरुआत?

हैलोवीन की शुरुआत सबसे पहले आयरलैंड और स्‍कॉटलैंड से हुई थी. ईसाई समुदाय के लोगों में हैलोवीन डे को लेकर मान्‍यता है कि भूतों का गेटअप करने से पूर्वजों की आत्‍माओं को शांति मिलती है. ईसाई समुदाय में सेल्टिक कैंलेंडर के आखिरी दिन यानी 31 अक्टूबर को हैलोवीन फेस्टिवल मनाया जाता है. अमेरिका, इंग्लैंड और यूरोपियन देशों के कई राज्यों में इसे नए साल की शुरुआत के तौर पर मनाया जाता है.

हैलोवीन का कद्दू से क्या है कनेक्शन?

इस त्‍योहार पर कभी लोग कद्दू को खोखला करके उसमें डरावने चेहरे बनाते थे. फिर उसके भीतर जलती हुई मोमबत्‍ती रख देते थे. जिससे अंधेरे में ये डरावने दिखें. इन्हें ही हैलोवीन कहा जाता था. कई देशों में ऐसे हैलोवीन को घर के बाहर अंधेरे में पेड़ों पर लटकाया जाता है जो पूर्वजों का प्रतीक होता है. फिर त्‍योहार खत्‍म होने के बाद कद्दू को दफना दिया जाता है.

image source : social media
image source : social media

इसलिए जलाते है हैलोवीन पर लालटेन 

हैलोवीन पर लालटेन जलाने को लेकर पश्चिमी देशों में एक लोककथा है, जिसके अनुसार, कंजूस जैक और शैतान आयरिश 2 दोस्‍त थे. कंजूस जैक शराबी था. एक बार उसने आ‍यरिश को अपने घर बुलाया, लेकिन उसने आयरिश को शराब पिलाने से मना कर दिया. उसने अपने दोस्त को शराब के बदले घर में लगा हुआ कद्दू खरीदने के लिए मना लिया लेकिन बाद में उसने इस बाद से भी इनकार कर दिया. जिसके बाद उसके दोस्त ने गुस्से में पंपकिन की डरावनी लालटने बनाकर अपने घर के बाहर एक पेड़ पर टांग दी. उसने पंपकिन की मुहं की नक्काशी कर दी और जलते हुए कोयले उसमें डाल दिए. इसके बाद बाकी लोगों ने भी सबक के तौर पर जैक-ओ-लालटेन का चलन शुरू कर दिया. यह लालटेन पूर्वजों की आत्माओं को रास्ता दिखाने और बुरी आत्माओं से उनकी रक्षा करने का भी प्रतीक है.

 

 

 

 

 

Related posts

Jharkhand Weather Update: झारखंड में फिर से बन रही वज्रपात और बारिश की संभावना, सरकार ने जारी किया Yellow Alert

Sumeet Roy

मैट्रिक में 36184 और इंटरमीडियट में 34926 परीक्षार्थी होंगे शामिल, 24 मार्च से शुरू होगी परीक्षाएं

Sumeet Roy

RJD News: गिले-शिकवे भूल फिर लालू के साथ आए शरद यादव, आज अपनी पार्टी का RJD में करेंगे विलय

Sumeet Roy