समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

GST Rates: अनाज, दाल आटे के 25 किलो से अधिक के पैकेट पर GST नहीं, ये खाद्य पदार्थ हैं दायरे से बाहर

image source : social media

GST Rates : जीएसटी परिषद के फैसले लागू होने के बाद  दैनिक उपयोग की सभी वस्तुएं सोमवार से महंगी हो गईं हैं. इससे महंगाई की मार झेल रहे लोगों के बजट पर अब और भार बढ़ गया है. सरकार ने जरूरत की सभी चीजों पर वस्तु एवं सेवा कर (GST) की दरों में बढ़ोतरी कर दी है. दही, लस्सी, चावल, पनीर, आटा और अन्य घरेलू वस्तुओं की कीमतें बढ़ गई हैं.

25 किलोग्राम से अधिक वजन के खाद्य पदार्थ को पांच फीसदी GST से छूट

खाद्य वस्तुओं के पहले से पैक और लेबल लगे खाद्य पदार्थ जैसे आटा, दालें, और अनाज के ऐसे पैकेटों को पांच फीसदी GST से छूट है जिनका वजन 25 किलोग्राम से अधिक है. अब जो भी लेबल लगे पैकेटबंद सामान हैं, उन पर GST लगेगा. दही और लस्सी जैसे पदार्थों के लिए यह सीमा 25 लीटर है. वित्त मंत्रालय ने इसको लेकर स्पष्टीकरण (FAQ) जारी कर दिया है.

image source : social media
image source : social media

25 किलोग्राम वजन तक के सिंगल पैकेट पर जीएसटी लगेगा

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (CBDT) के अनुसार, अनाज, दाल और आटे जैसे खाद्य पदार्थों के 25 किलोग्राम वजन तक के सिंगल पैकेट पर जीएसटी लगेगा. केंद्रीय वित्त मंत्रालय के राजस्व विभाग ने GST on Prepackaged and Labeled से जुड़ी कई चीजों को स्पष्ट किया है. इसके अनुसार, अगर आटा, चावल जैसी खाने वाली वस्तुओं की पैकिंग लीगल मेट्रोलॉजी एक्ट 2009 के तहत होती है, तो 25 किलो से अधिक के वजन पर जीएसटी नहीं लगेगा.

खुदरा ग्राहकों को राहत

वहीं, अगर  5-5 किलो के पैकट के मिलाकर वजन को 25 किलो से ज्यादा किया जाता है, इस स्थिति में 5 फीसदी की दर से जीएसटी देना होगा. जीएसटी पर छूट तभी मिलेगी जब सिंगल पैकेट का वजन 25 किलो से अधिक होगा. यदि कोई खुदरा दुकानदार 25 किलोग्राम के पैकट को सीधे वितरक या प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी से खरीदता है और खुदरा मात्रा में बेचता है. ऐसी स्थिति में ग्राहकों को जीएसटी नहीं देना होगा.

दर में बदलाव 18 जुलाई से प्रभावी 

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में जीएसटी परिषद ने पिछले दिनों अपनी बैठक में डिब्बा या पैकेटबंद और लेबल युक्त (फ्रोजन को छोड़कर) मछली, दही, पनीर, लस्सी, शहद, सूखा मखाना, सूखा सोयाबीन, मटर जैसे उत्पाद, गेहूं और अन्य अनाज पर पांच प्रतिशत जीएसटी लगाने का फैसला किया था. कर दर में बदलाव 18 जुलाई से प्रभाव में आएंगे. इसी प्रकार, टेट्रा पैक और बैंक की तरफ से चेक जारी करने पर 18 प्रतिशत और एटलस समेत नक्शे तथा चार्ट पर 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा.

‘खुला बिकने वाले बिना ब्रांड वाले उत्पादों पर जीएसटी छूट जारी रहेगी’

वहीं खुले में बिकने वाले बिना ब्रांड वाले उत्पादों पर जीएसटी छूट जारी रहेगी. ‘प्रिंटिंग/ड्राइंग इंक’, धारदार चाकू, कागज काटने वाला चाकू और ‘पेंसिल शार्पनर’, एलईडी लैंप, ड्राइंग और मार्किंग करने वाले उत्पादों पर कर की दरें बढ़ाकर 18 प्रतिशत कर दी गयी हैं. सौर वॉटर हीटर पर अब 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा जबकि पहले पांच प्रतिशत कर लगता था.

ये भी पढ़ें: देश में Monkeypox का दूसरा केस मिलने से बढ़ा खतरा, जानें कैसे फैलता है ये बीमारी और क्या हैं इसके लक्षण?

 

 

Related posts

Jharkhand: 25 रुपये लीटर सस्‍ता पेट्रोल लेने के लिए जान लें कहां करना है आवेदन?

Pramod Kumar

Tokyo Olympics : सिंधु के रैकेट से निकला भारत का दूसरा पदक, पीवी ने लगातार दो ओलंपिक में जीते दो मैडल

Pramod Kumar

CBSE Answer Key 2021-22 Class 10 Science: यहां चेक करें सीबीएसई साइंस टर्म 1 परीक्षा की Answer Key

Sumeet Roy