समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार राजनीति

Gopalganj By Election: ‘मामा’ और ‘भाई जान’ ने गोपालगंज उपचुनाव में तेजस्वी का बिगाड़ा काम

image source : social media

Gopalganj By Election: बिहार (Bihar)के गोपालगंज विधानसभा उपचुनाव में ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने राजद को बहुत बड़ा नुकसान पहुँचाया है. भाजपा(BJP) के लिए इस बार जीत काफी मुश्किल मानी जा रही थी. भाजपा विरोधी मतों के बंटने के कारण भाजपा हारते हारते बची और राजद (RJD) की गोपालगंज (Gopalganj)में बहुत कम अंतर से हार हो गई. 2005 से अब तक यह सीट भाजपा की रही और इस बार के चुनाव में भी भाजपा ने इस सीट पर कब्जा बरकरार रखने में सफल हो गई.

नहीं काम आई राजद की रणनीति 

वैश्य बहुल वोट वाली गोपालगंज सीट (Gopalganj By Election) के लिए राजद ने रणनीति के तहत वैश्य प्रत्याशी  को मैदान में उतारा था. राजद का  गेम प्लान यह था कि परंपरागत यादव और मुस्लिम वोट उसी के खाते में आएंगे. उधर, बीजेपी वैश्य वोटों पर अपना दावा ठोंकती थी. शेष यादव और मुस्लिम वोटों पर राजद के वोट बैंक में सेंधमारी कर दी गई.

असदुद्दीन ओवैसी ने भी फेर दिया राजद के सपनों पर पानी 

बिहार की गोापलगंज बीजेपी प्रत्याशी कुसुम देवी ने आरजेडी के मोहन प्रसाद गुप्ता को सिर्फ 1789 वोटों से हराया. महागठबंधन में शामिल जेडीयू-कांग्रेस समेत अन्य पार्टियों के समर्थन के बावजूद आरजेडी उम्मीदवार की हार के पीछे बीजेपी की नहीं, बल्कि डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के मामा साधु यादव और असदुद्दीन ओवैसी की अहम भूमिका है.

इन उम्मीदवारों को मिले इतने मत 

गोपालगंज में बीजेपी उम्माीदवार कुसुम देवी को 41.6 फीसदी यानी 70053 वोट मिले. दूसरे नंबर पर रहे आरजेडी प्रत्याशी मोहन प्रसाद गुप्ता को भी 40.53 फीसदी यानी 68,259 मत हासिल हुए. हार का अंतर सिर्फ 1789 वोट रहा. इस सीट पर तीसरे नंबर पर असदुद्दनी ओवैसी की पार्टी AIMIM के प्रत्याशी अब्दुल सलाम को 12 हजार वोट मिले. इसके बाद बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ीं साधु यादव की पत्नी इंदिरा यादव को भी 8854 मत हासिल हुए.

तेजस्वी की मामी ने डुबोई आरजेडी की लुटिया 

पूर्व सांसद और विधायक लालू यादव के साले साधु यादव की पत्नी इंदिरा यादव गोपालगंज में आरजेडी की हार का प्रमुख कारण बन गईं. डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव की मामी इंदिरा देवी बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ीं और उन्होंने महागठबंधन के वोटबैंक में सेंध लगते हुए साढ़े आठ हजार से ज्यादा वोट अपने खाते में डलवा दिए. इस कारण आरजेडी को बहुत कम अंतर से हार का सामना करना पड़ा. इसी तरह ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के प्रत्याशी ने भी 12 हजार से ज्यादा वोट हासिल कर आरजेडी का गेम प्लान बिगाड़ दिया. एआईएमआईएम ने भी आरजेडी के वोटों में सेंधमारी की और बीजेपी करीबी मुकाबले में जीत गई.

ये भी पढ़ें : Bihar byelection: गोपालगंज में बीजेपी का खिला ‘कमल’ तो मोकामा में राजद की जली ‘लालटेन’

 

Related posts

Jharkhand Recruitment: झारखंड के 5 सरकारी मेडिकल कॉलेजों में 100 पदों पर निकली बहाली, 16 को Walk in Interview

Manoj Singh

Jharkhand: हाथी के हमले में बुरी तरह जख्मी सिमडेगा का ग्रामीण रिम्स में इलाजरत, डालसा की अनिता ने पहुंचायी मदद

Pramod Kumar

मुल्ला बरादर का पत्ता कटा! मुल्ला हसन अखुंद को तालिबान सरकार की मिलेगी कमान

Manoj Singh