समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

BBC on PM Modi : फिर पीएम मोदी पर बदनाम करने का वैश्विक कुचक्र, डॉक्यूमेंट्री बनाकर घिरा बीबीसी,  निंदा के बाद  यूट्यूब से हटा वीडियो

Global conspiracy to defame PM Modi again, BBC surrounded by documentary

BBC on PM Modi : लोकसभा का चुनाव अब नजदीक है तो एक बार फिर मोदी विरोधी शक्तियां सक्रिय हैं। यानी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बदनाम करने का वैश्विक कुचक्र शुरू हो गया है। पिछले दिनों ‘द ब्रिटिश बॉडकॉस्टिंग कॉरपोरेशन’ (BBC) के पीएम मोदी पर एक डॉक्यूमेंट्री बनायी थी। इसमें उसने मोदी को विलेन बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। लेकिन यह वीडियो वायरल होने के बाद वह आलोचनाओं में भी घिर गया। देश में ही नहीं, देश के बाहर भी इसकी आलोचनाएं शुरू हो गयी। आलोचनाओं में घिरने के बाद यूट्यूब ने यह वीडियो अपने प्लेटफॉर्म से हटा लिया। बता दे, 2019 के लोकसभा चुनाव के समय भी ऐसी ही हरकत की गयी थी। उस समय एक अमेरिका पत्रिका ने पीएम मोदी की सूरत को बिगाड़ते हुए वैश्विक खलनायक बनाने का प्रयास किया था।

‘द मोदी क्वेश्चन’ पर उठ गये सवाल

बीबीसी का हाल का यह वीडियो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राजनीतिक जीवन पर आधारित है। ‘द मोदी क्वेश्चन’ नामक’ इस डॉक्यूमेंट्री में उसने प्रधानमंत्री के राजनीतिक जीवन से जुड़े चर्चित प्रसंगों को लेकर डॉक्यूमेंट्री तैयार की थी। इस डॉक्यूमेंट्री में विशेष रूप से गुजरात दंगों से जुड़े प्रसंगों को डाला गया है, जिसमें यह दर्शाया गया था कि गुजरात दंगों में मुस्लिमों के नरसंहार में तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी का ही हाथ है। जबकि सुप्रीम कोर्ट भी नरेन्द्र मोदी को इस मामले में क्लीन चिट दे चुका है। डॉक्यूमेंट्री जारी करन के बाद बीबीसी आलोचनाओं में घिरा हुआ है। डॉक्यूमेंट्री देखने के बाद प्रतीत होता है कि बीबीसी का प्रमुख ध्येय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नकारात्मक छवि  गढ़ना है। अब बीबीसी के ‘क्वेश्चन’ पर ही क्वेश्चन उठ गया है।

वैश्विक पटल पर आक्रोश

पीएम मोदी पर तैयार की गयी इस विवादास्पद डॉक्यूमेंट्री पर विश्व पटल पर विरोध भी शुरू हो गया है। बीबीसी द्वारा तैयार की गई इस एकतरफा डॉक्यूमेंट्री पर ना महज भारत, बल्कि ब्रिटेन की तरफ से भी आक्रोशित प्रतिक्रिया सामने आई है। ब्रिटेन के सांसद लॉर्ड रामी रेंजर सहित ने भी इस डॉक्यूमेंट्री की आलोचना की है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने बीबीसी द्वारा तैयार डॉक्यूमेंट्री की आलोचना करते हुए कहा कि, ‘हमें लगता है कि यह डॉक्यूमेंट्री एक पोपोगेंडा के तहत तैयार की गई है। पूर्वाग्रह और निष्पक्षता की कमी और स्पष्ट रूप से जारी औपनिवेशिक मानसिकता देर से दिखाई दे रही है।‘ डॉक्यूमेंट्री की चौतरफा आलोचना के बाद यूट्यूब ने यह वीडियो हटा लिया है।

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

यह भी पढ़ें: Jharkhand: सीबीआई की जद में आया शेल कम्पनियों का ‘मैनेजर’ कारोबारी अमित अग्रवाल

BBC on PM Modi

Related posts

भारतीय महिलाओं ने किया कमाल, श्रीलंका को हराकर 7वीं बार जीता एशिया कप का खिताब

Pramod Kumar

Blue Moon : आज होगा दुर्लभ चांद का दीदार, दिखेगा अद्भुत नजारा

Manoj Singh

Punjab में आज से ‘आप’ की सरकार, भगवंत मान ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ

Pramod Kumar