समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार राँची

Gandhi Maidan Bomb Blast Case: रांची के सीठियो के रहनेवाले इम्तियाज अंसारी समेत नौ आतंकी दोषी करार

Gandhi Maidan Bomb Blast Case: रांची के सीठियो के रहनेवाले इम्तियाज अंसारी समेत नौ आतंकी दोषी करार

न्यूज़ डेस्क/ समाचार प्लस झारखंड- बिहार
भाजपा की ओर से प्रधानमंत्री पद के उम्‍मीदवार नरेंद्र मोदी की चुनावी सभा के दौरान गांधी मैदान (Gandhi Maidan) और पटना जंक्‍शन सहित शहर के कई इलाकों में सिलसिलेवार धमाके(Bomb Blast) करने वाले नौ आतंकियों को एनआइए कोर्ट एक नवंबर को सजा सुना देगी। कोर्ट ने इस मामले में एक आरोपित फकरुद्दीन को रिहा कर दिया है। वहीं, हैदर अली, नुमान अंसारी, मजीबुल्लाह, उमर सिद्दिकी, फिरोज असलम, इम्तियाज आलम सहित नौ को सजा सुनाने के लिए तारीख मुकर्रर कर दी है। इनमें से इम्तियाज, उमेर, अजहर, मोजिबुल्लाह और हैदर बोधगया सीरियल बम ब्लास्ट में भी उम्रकैद की सजा हो चुकी है।

मुजफ्फरनगर दंगे का बदला लेने को रची गई थी साजिश

गांधी मैदान विस्फोट में पटना से गिरफ्तार इम्तियाज रांची के धुर्वा थाना क्षेत्र के सीठियो इलाके का रहने वाला है। जांच टीम के अनुसार, इसी के घर पर सीरियल ब्लास्ट की साजिश रची गई थी। जांच टीम का कहना है कि उसने बताया था कि मुजफ्फरनगर दंगे का बदला लेने के लिए ये धमाके किए गए थे।

नरेन्द्र मोदी की हुंकार रैली में हुए थे बम धमाके

आज से ठीक आठ साल पहले पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान (Gandhi Maidan) में नरेन्द्र मोदी की हुंकार रैली (Hunkar Rally) में सिलसिलेवार बम धमाके (Serial Blasts) हुए थे। मोदी तब भारतीय जनता पार्टी (BJP) की ओर से राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार थे। इसके अलावा पटना जंक्शन के प्लेटफार्म संख्या 10 पर भी बम धमाका हुआ था। इन धमाकों में छह लोगों की मौत हुई थी। जबकि, 80 से अधिक लोग घायल हुए थे। संयोग देखिए कि ठीक इसी तारीख को आठ साल बाद बुधवार को एनआइए की विशेष कोर्ट ने दोषियों को चिह्नि‍त कर लिया है। इस मामले में अब तक कोर्ट में 187 लोगों की सुनवाई हो चुकी है।

ये भी पढ़ें : New Motor Vehicle Act: अब बच्चों को बाइक पर ले जाने से पहले हो जाएं सावधान, सरकार लेकर आ रही नए नियम

Related posts

सीएम ने किया धुमकुड़िया भवन का शिलान्यास, बोले- विकास के दौर में भी ऊंचाइयों पर नहीं पहुंच पाया आदिवासी समाज

Khusboo Kumari

नहीं रही ‘जोधा-अकबर’ की सलीमा बेगम, 29 साल की उम्र में दुनिया को कह दिया अलविदा

Manoj Singh

जातिगत जनगणना का फिलहाल प्रस्‍ताव नहीं, राज्‍यसभा में केन्द्रीय मंत्री वीरेंद्र कुमार ने दी जानकारी

Pramod Kumar

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.